JharkhandLatehar

लातेहार : सुरक्षित वन क्षेत्र में सड़क बनाने और अवैध उत्खनन पर कार्रवाई, हेरहंज बीडीओ समेत चार पर एफआइआर

Latehar : पलामू प्रमंडल के लातेहार जिला अंतर्गत हेरहंज के सुरक्षित वन क्षेत्र में सड़क बना देने का मामला काफी गरमा गया है. वन विभाग द्वारा मामले की जांच की गयी और सही पाये जाने पर हेरहंज के बीडीओ श्रवण राम, रोजगार सेवक राहुल राज, संवेदक नवीन कुमार सिंह और प्रमोद राम पर नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी है.

इसे भी पढ़ें : मनिका : जमीन विवाद में महिला की हत्या, कांग्रेसी नेता का पिता गिरफ्तार

सड़क बनाने के साथ अवैध खनन भी हुआ

Catalyst IAS
ram janam hospital

बालूमाथ के रेंजर पीपी साहू ने बताया कि हेरहंज प्रखंड के इनातू-डोडांग के बीच सुरक्षित वन क्षेत्र में अवैध तरीके से सड़क बना दी गयी है. सड़क बनाने के लिए सुरक्षित वन क्षेत्र के मोरम की खुदायी की गयी. इससे बड़े पैमान पर वन संपदा का नाश हुआ है. उन्होंने कहा कि गत 6 मार्च को इस मामले में जांच की गयी. जांच में मामले को सही पाया गया. बाद में इस संबंध में बीडीओ समेत अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. उम्मीद है कि आज मामला न्यायालय में भी पहुंच गया होगा.

The Royal’s
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : भले ही देश पोलियो मुक्त हो गया है, लेकिन भविष्य के लिए सतर्क रहना जरूरी : डॉ विजय

बेशकीमती पेड़ों को काटा गया 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा प्रखंड प्रशासन द्वारा मनिका मुख्य पथ से बंदुआ तक जाने वाली सड़क में सुरक्षित वन क्षेत्र से मोरम की खुदायी की गयी और सड़क बनाने के लिए बेशकीमती पेड़ों को काट दिया गया है. मोरम का इस्तेमाल सड़क बनाने में किया गया है. डोडांग पथ में प्रखंड प्रशासन ने लगभग चार सौ मीटर से अधिक ग्रेड वन पथ को छोड़कर वनभूमि पर सड़क बना दी गयी है. इसकी जानकारी भी वन विभाग को नहीं दी गयी.

इसे भी पढ़ें : मुख्‍यधारा में लौटें नक्‍सली, नहीं तो मारे जायेंगे : डीआइजी पंकज कम्‍बोज

जांच करने पर मामले की हुई पुष्टि

रेंजर ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद गत 6 मार्च को इसकी जांच की गयी. मापी कराने पर मामला सही पाया गया. मापी में सड़क वन क्षेत्र में बनाने की पुष्टि हुयी है. उन्होंने कहा कि सड़क बनाने में बड़े पैमाने पर नियमों को दरकिनारे किया गया, इसलिए बीडीओ समेत अन्य पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है. इस संबंध में कड़ी कार्रवाई की तैयारी है. उम्मीद है कि आज मामला न्यायालय में भी पहुंच गया होगा.

इसे भी पढ़ें : महिला और पुरुष में समानता और संतुलन के पूरे विश्व में हो रहे प्रयास : असित सिंह

निर्वाचन आयोग के निर्देश पर बन रही सड़क

गौरतलब है कि निर्वाचन आयोग ने सभी बूथों तक पहुंच पथ बनाने के लिए जिला से लेकर प्रखंड प्रशासन को निर्देश जारी किया है. साथ ही ग्रेड वन सड़क बनाने के लिए प्रति किलोमीटर 30 हजार रुपये भी प्रखंडों को भेजे हैं. निर्वाचन आयोग का प्रेशर होने पर बीडीओ ने नियम विरूद्ध वन क्षेत्र में सड़क बना दी और सड़क बनाने में मेटेरियल जुटाने के लिए वन क्षेत्र में अवैध उत्खनन किया.

इसे भी पढ़ें : पलामू लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के मूड में पूर्व डीजीपी राजीव कुमार

वन क्षेत्र में हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं : डीएफओ

लातेहार डीएफओ वेद प्रकाश कंबोज ने कहा कि वन क्षेत्र में किसी तरह का नाजायज हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं की जायेगी. सड़क बनाने का मामला हो या फिर अवैध उत्खनन का, सभी में कार्रवाई होगी. वन विभाग को बिना विश्वास में लिए सुरक्षित वन क्षेत्र में ऐसे कार्यों से ही लगातार जंगलों का दायरा कम होते जा रहा हैं.

इसे भी पढ़ें : आर थंगा पंडियन बने झारखंड राज्य जल छाजन मिशन के सीईओ

Related Articles

Back to top button