Main SliderNational

राहत इंदौरी के आखिरी शब्द: डॉक्टर्स से बार-बार कह रहे थे ‘अब मैं ठीक नहीं हो पाऊंगा’

विज्ञापन

Indore. 70 साल की उम्र में मशहूर शायर डॉ राहत इंदौरी का निधन हो गया. कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें इंदौर के अरविंदो अस्पताल में भर्ती किया गया था. कोविड संक्रमित होने के बाद मंगलवार को उन्हें 2 बार दिल का दौरा पड़ा था. जिसके बाद उनकी मौत हो गई. उन्हें शायद यह अहसास होने लगा था कि अब वह ठीक नहीं हो पाएंगे.

इसे भी पढ़ें- रिया चक्रवर्ती की अर्जी पर सुनवाई पूरी, सुप्रीम कोर्ट में फैसला सुरक्ष‍ित रखा

अब मैं ठीक नहीं हो पाऊंगा
कोरोना संक्रमित होने के बाद राहत इंदौरी का इलाज अरबिंदो अस्पताल में चल रहा था. यहां के डॉक्टर उनकी लगातार निगरानी कर रहे थे. अरविंदो अस्पताल के डायरेक्टर विनोद भंडारी ने बताया कि वह लगातार अस्पताल में कह रहे थे कि मैं अब ठीक नहीं हो पाऊंगा. उसके बाद डॉक्टरों की टीम उन्हें लगातार समझा रही थी. लेकिन सोमवार से ही वह बार-बार इस बात को दोहरा रहे था.

advt

उनकी स्थिति बहुत खराब थी
डॉ राहत इंदौरी को कई बीमारी पहले से थीं. उन्हें किडनी में भी दिक्कत थी. इसके साथ ही हाइपर टेंशन, डायबिटिक, हर्ट और लंग्स में इंफेक्शन था. इसकी वजह से अस्पताल में भर्ती होने के बाद उन्हें हार्ट अटैक आया और उसके बाद स्थिति बिगड़ गई. जानकारी के अनुसार डॉ डॉक्टर राहत इंदौरी को 4 दिन पहले से बेचैनी हो रही थी.

दिल का दौरा पड़ने से निधन
अरविंदो अस्पताल के डॉक्टर विनोद भंडारी ने बताया कि उर्दू कवि राहत इंदौरी का निधन हो गया है. उन्हें आज दो बार दिल का दौरा पड़ा और उन्हें बचाया नहीं जा सका. कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्हें 60% निमोनिया था.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button