न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोहरदगा में फिर हुआ लैंडमाइंस विस्फोट, सीआरपीएफ का एक जवान जख्मी

1,044

Lohardaga: जिले में एकबार फिर लैंडमाइंस विस्फोट हुआ है. बुधवार को जिले के सुदूरवर्ती बगड़ू थाना क्षेत्र के केकरांग झरना के पास लैंड माइंस ब्लास्ट हुआ. जिसमें सीआरपीएफ का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया है.

बताया जा रहा है कि सीआरपीएफ जवान का एक पैर कट गया है. लोहरदगा जिले के जंगली इलाकों में नक्सलियों के द्वारा जमीन के अंदर लगा कर रखे गए लैंडमाइंस में लगातार विस्फोट हो रहे हैं. पिछले 13 दिनों के दौरान तीन विस्फोट की घटनाएं सामने आ चुकी है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ेंःआने वाले साल में 6000 सोलर स्ट्रीट लाइट लगायेगी JREDA, 2018-19 की योजना को अगले वित्त वर्ष में किया जायेगा पूरा

सर्च अभियान के दौरान हुआ विस्फोट

मिली जानकारी के अनुसार सुदूरवर्ती बगड़ू थाना क्षेत्र के केकरांग झरना के मंगलवार को हुए लैंड माइंस विस्फोट की घटना के बाद सीआरपीएफ के जवानों के द्वारा सर्च अभियान चलाया जा रहा है. इसी दौरान लैंडमाइंस विस्फोट हुआ. घटना के बाद जवान को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है.

लैंडमाइंस ब्लास्ट में हुई थी बच्ची की मौत

उल्लेखनीय है कि जिले के सुदूरवर्ती बगड़ू थाना क्षेत्र के केकरांग झरना के समीप मंगलवार की सुबह करीब 9 बजे आइईडी विस्फोट में एक बच्ची की मौत हो गई थी. पूर्व में यहां जमीन के भीतर लगाए लैंडमाईंस पर पैर पड़ने से बच्ची के शरीर के चिथड़े उड़ गए थे.

इसे भी पढ़ेंः#CBI करेगी 126 करोड़ के यमुना एक्सप्रेस-वे घोटाले की जांच, पूर्व CEO समेत 21 के खिलाफ मामला दर्ज

विस्फोट में पांच युवती समेत महिला गंभीर रूप से घायल हो गई थी. साथ ही अन्य पांच महिलाओं को भी हल्की चोट लगी थी. घटना केकरांग के सीआरपीएफ पिकेट से महज 3 किलोमीटर की दूरी पर घटी थी. मृत बच्ची की पहचान पतगच्छा निवासी जगदीश उरांव की 16 वर्षीय पुत्री जमुना कुमारी के रूप में हुई थी.

लोहरदगा में लगातार लैंडमाइंस विस्फोट

बता दें कि नक्सलियों के द्वारा जंगली क्षेत्र में सुरक्षा बल को नुकसान पहुंचाने के इरादे से लगाये गये लैंड माइंस लगातार विस्फोट हो रहे है. लैंडमाइंस की चपेट में ग्रामीण आ रहे हैं.

इससे पहले 12 दिसंबर को लोहरदगा के पेशरार थाना क्षेत्र की सीमा पर स्थित बुलबुल जंगल में हुए लैंडमाइंस विस्फोट में एक ग्रामीण की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी थी. जबकि एक अन्य ग्रामीण बुरी तरह घायल हो गया था. दोनों आदिम जनजाति समुदाय के थे.

इसे भी पढ़ेंः#CAA_NRC पर BJP MLA के बिगड़ैल बोल, कहा- विरोध कर रहे लोगों का एक घंटे में हो सकता है सफाया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like