न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल संवेदनशील विषय, इस पर सदन में बहस नहीं हुई, तो यह चिंतनीय : सुदेश

465

Ranchi : भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल को एक संवेदनशील विषय बताते हुए आजसू पार्टी ने कहा है कि ऐसे मुद्दे पर सरकार अगर सदन में बहस नहीं करती है, तो यह एक चिंतनीय बात है. आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने कहा कि भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल एक संवेदनशील विषय है और ऐसे विषय पर एकमात्र संवाद केवल सदन के अंदर ही हो सकता है. विपक्ष ने झारखंड बंद तो कर दिया, लेकिन इससे किसी तरह के समाधान का कोई रास्ता नहीं खुला. विपक्ष को घेरते हुए सुदेश महतो ने कहा कि विपक्ष द्वारा विधानसभा सत्र का बहिष्कार, सदन को नहीं चलने देना और मुद्दे पर बहस से भागना यह साफ दर्शाता है कि विपक्ष इस मुद्दे को लेकर कितना गंभीर है. विपक्ष को चाहिए कि सदन में खुली बहस में वह भाग ले. लेकिन, विपक्ष न तो सरकार की बात सुनता है, न ही अपनी बात को रखता है. सुदेश के मुताबिक, उक्त बिल को सरकार ने पिछले साल 12 अगस्त को पारित किया था. इस दौरान सरकार ने अधिनियम की जटिल प्रक्रियाओं को कम करने की मंशा भी जतायी थी. इसके बावजूद विपक्ष ने विधानसभा में हंगामा किया था.

इसे भी पढ़ें- खूंटी में पुलिस-पत्थलगड़ी समर्थकों के बीच झड़प के बाद पहली बार घाघरा पहुंचे मंत्री नीलकंठ, ग्रामीणों…

दो दिन हो विशेष बहस, विधानसभा अध्यक्ष से मिलेगा प्रतिनिधिमंडल

सुदेश महतो ने कहा कि जमीन अधिग्रहण मुद्दे पर विधानसभा में दो दिनों की विशेष बहस आयोजित होनी चाहिए. सत्ता पक्ष और विपक्ष को चाहिए कि वे अपनी नैतिक जिम्मेदारी के साथ विशेष बहस के लिए आगे आयें. उन्होंने कहा कि संशोधित बिल पर विधानसभा में विशेष बहस हो, इसके लिए आजसू पार्टी के विधायकों का प्रतिनिधिमंडल जल्द ही विधानसभा अध्यक्ष से मिलेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: