BiharJharkhandRanchiTOP SLIDER

लालू रहेंगे अभी जेल में, जमानत पर टली सुनवाई, अगली सुनवाई 11 दिसंबर को

  रिहाई की उम्मीद में बिहार से पहुंचे सैकड़ों समर्थक हुए मायूस

Ranchi :  चारा घोटाला में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व सीएम व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर आज शुक्रवार को झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई टल गयी.जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में जमानत  के लिए अपील याचिका सूचीबद्ध थी. सुनवाई टलने के साथ ही लालू यादव को अब 11 दिसंबर तक जमानत के लिए इंतजार करना होगा.

अदालत ने अगली सुनवाई के लिए 11 दिसंबर की तिथि तय की है. दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद यादव की ओर से हाईकोर्ट में जमानत के लिए याचिका दायर की गयी थी, जिसपर आज सुनवाई होनी थी.

सुनवाई के दौरान लालू यादव के वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट में दाखिल CBI के जवाबों पर अपना पक्ष रखने के लिए वक्त मांगा है. इसके मद्देनजर कोर्ट की तरफ से 11 दिसंबर का समय मुकर्रर किया गया है. चारा घोटाले से जुड़े दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद यादव ने आधी सजा काट लेने और स्वास्थ्य का हवाला देकर जमानत के लिए याचिका दायर की है.

इसे भी पढ़े : हजारीबाग : इचाक बाजार में अपराधियों ने व्यापारियों से सात लाख लूटे, युवक को गोली मारी

CBI ने जमानत नहीं देने की अपील की थी

इस मामले में छह नवंबर को सुनवाई हुई थी. जिसमें हाईकोर्ट ने सीबीआई से जवाब दाखिल करने के लिए कहा था. सीबीआई जवाब दाखिल कर चुकी है. इसमें सीबीआई ने कहा है कि लालू प्रसाद यादव ने चारा घोटाले के जिस मामले में जमानत की मांग की है, उस मामले में सीबीआई कोर्ट से उन्हें मिली सजा की आधी अवधि पूरी नहीं हुई है. सीबीआई ने इस दौरान सीआरपीसी की धारा 427 का हवाला देते हुए कहा कि दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में से जुड़े चारा घोटाला में लालू प्रसाद यादव एक दिन भी जेल में नहीं रहे हैं.

इसे भी पढ़े :  नहीं रहे पूर्व मंत्री अकलू राम महतो

मायूस हुए बिहार से आये समर्थक

आज सुनवाई टलने से उनके समर्थकों में मायूसी है. लालू को जमानत मिलने की उम्मीद में रिम्स में भर्ती लालू प्रसाद से मिलने के लिए काफी संख्या में समर्थक रिम्स पहुंचे हुए थे. समर्थकों को उम्मीद थी कि लालू प्रसाद को आज बेल मिल जाएगा और वे बाहर आयेंगे. ऐसे में उनके स्वागत के लिए बिहार और झारखंड के विभिन्न जिलों से समर्थक पहुंचे हुए थे. बिहार से आये समर्थकों का कहना है कि लालू प्रसाद को बेवजह फंसाया गया है और अब हार्सट्रेडिंग में उन्हें फंसाया जा रहा है. उनके समर्थकों का दावा है कि जोड़-तोड़ के आंकड़ों से भाजपा खेल रही है, जबकि राजद की सरकार बननी पक्की है. लालू यादव के बाहर आते ही बिहार में राजद की सरकार बनना तय है.

इसे भी पढ़े : किसान आंदोलन : दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर झड़प, पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े , किसानों ने पत्थर चलाये…

लालू के लिए सत्तू व उनकी फोटो लेकर पहुंचे समर्थक

लालू प्रसाद के समर्थक उनके लिए बिहार से कई तरह की खाने की चीजें लेकर पहुंचे हैं. उनके लिए सत्तू की पोटली भी क लेकर आए हैं. एक समर्थक लालू प्रसाद का हाथ से बनाया हुआ फोटो भी उन्हें भेंट करने के लिए पहुंचे हैं. हालांकि सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त होने और अनुमति नहीं लिए जाने के कारण किसी को उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है. सभी लोग बाहर से ही लालू यादव जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं.

समर्थकों का दावा, बनेगी हमारी सरकार

लालू समर्थकों की आस्था इस कदर देखने को मिल रही है कि वे बिहार में लालू की सरकार बनने की बात कह रहे हैं. इन लोगों का कहना है कि भले ही एनडीए आगे रही हो लेकिन पार्टी के हिसाब से राजद सबसे बड़ी पार्टी है और ऐसे में आम लेागों का समर्थन राजद के पास है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: