BiharJharkhandLead NewsNEWSRanchi

जेल की कस्टडी से मुक्त हुए लालू यादव, फिलहाल एम्स में ही उपचाराधीन

पांच-पांच लाख के जुर्माना पर मिली है जमानत, साढ़े तीन साल रहे जेल में

Ranchi: आखिरकार चारा घोटाले मामले के सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव  जेल से बाहर हो गये. लालू यादव की जमानत के लिये गुरूवार को ही बेल बांड भरा जा चुका था. वह फिलहाल दिल्ली एम्स में उपचाराधीन हैं. रीलीज आर्डर कल ही एम्स पहुंच चुका था. जिसके बाद उन्हें जेल की कस्टडी से मुक्त कर दिया गया. हालांकि, उपचार के मद्देनजर वह फिलहाल एम्स ही हैं.

 

advt

इधर, उनके पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह देखा जा रहा है. पिछले साढ़े तीन साल से लालू यादव जेल में रहे. इसक दौरान इलाज के लिये लालू लंबे समय तक रिम्स में रहें. लालू को जेल दुमका चारा घोटाले मामले में हुई थी. जहां आरोप है कि लालू ने 88 लाख रूपये की अवैध निकासी की थी. बेल बांड में सीबीआई कोर्ट के अधिवक्ता प्रभात कुमार ने एक एक लाख के निजी मुचलके और पांच पांच लाख की जुर्माना राशि जमा की.

 

जमानत के बाद रिहाई में ये थे रोड़े: लालू को हाईकोर्ट की ओर से 18 अप्रैल को जमानत याचिका मंजूर की गयी. इसके बाद से ही कोविड संक्रमण के कारण कोर्ट कार्य प्रभावित रहें. स्टेट बार काउंसिल की ओर से दो मई तक अधिवक्ताओं को वकालत कार्य नहीं करने का आदेश दिया गया है. बीते बुधवार को बार काउंसिल आफ इंडिया की ओर से जेल में बंद या जिन्हें कोर्ट से जमानत की मंजूरी मिली है. उसके लिये बेल बांड भरने की अनुमति इजाजत मिली है. जिसके बाद बेल बांड भरा जा सका.

 

इसके पहले फरवरी में भी लालू यादव की जमानत याचिका हाईकोर्ट ने नामंजूर कर दी थी. कोर्ट ने तब दलील दी थी कि लालू ने अपनी आधी सजा पूरी नहीं की है ऐसे में लालू को जमानत नहीं मिल सकती है. इसके बाद लालू की याचिका पर फिर से सुनवाई नौ अप्रैल से शुरू हुई. इस दिन लालू ने दुमका कोषागार मामले में आधी सजा पूरी कर ली थी.

 

सीबीआई कोर्ट से मिली थी सात साल की सजा: दुमका कोषागार मामले में लालू प्रसाद यादव पर लगभग 88 लाख रूपये अवैध निकासी का आरोप है. सीबीआइ की विशेष अदालत ने लालू को सात साल की सजा सुनायी थी. वहीं डोरंडा कोषागार मामले में भी सीबीआइ कोर्ट ने लालू ने सात साल की सजा सुनायी थी. दोनों सजा अलग अलग चल रही थी. ऐसे में दुमका कोषागार मामले में साढ़े तीन साल की सजा पूरी होने पर कोर्ट ने जमानत याचिका मंजूर की.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: