न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लालू यादव ने किया सरेंडर- पहले होटवार जेल, फिर भेजे जाएंगे रिम्स

हाईकोर्ट के आदेश पर किया आत्मसमर्पण

334

Ranchi: चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू यादव ने गुरुवार को सीबीआई कोर्ट ने सरेंडर कर दिया. दिन के 11 बजे सीबीआई के विशेष जज एसएस प्रसाद की अदालत में आत्मसमपर्ण किया. सरेंडर के बाद कोर्ट ने लालू यादव को न्यायिक हिरासत में होटवार जेल भेज दिया है. विशेष अदालत के जज ने उनके स्वास्थ्य की जांच के बाद लालू प्रसाद यादव को रिम्स भेजने को कहा है.

इसे भी पढ़ेंः 18 करोड़ की लगात से बने स्लॉटर हाउस पर क्यों लग सकता है ग्रहण

 गौरतलब है कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव बीमारी के कारण प्रोविजनल बेल पर बाहर थे, और हाईकोर्ट ने जमानत की अवधि बढ़ाने से इनकार किया था. जिसके बाद उन्होंने गुरुवार को सरेंडर किया. सरेंडर करने से पहले लालू प्रसाद यादव ने मीडिया से बात करते हुए क‍हा कि मैंने हाईकोर्ट के आदेश के पालन किया है और हमारी कोई इच्‍छा नहीं है जहां रखना है रखें.

hosp1

रिम्स के डॉक्टर करेंगे लालू की जांच

गुरुवार को सीबीआई के विशेष न्यायधीश एसएस प्रसाद ने लालू के सरेंडर के मामले की प्रक्रिया पर सुनवाई की. सुनवाई के बाद जज ने पूर्व मुख्यमंत्री को होटवार जेल भेजे जाने का निर्देश दिया. होटवार जेल में ही रिम्स के डॉक्टर उमेश कुमार लालू प्रसाद के मेडिकल जांच करेंगे. जांच करने के बाद रिम्स के डॉक्टर लालू प्रसाद की रिपोर्ट को कोर्ट में पेश करेंगे. कोर्ट में पेश रिपोर्ट के बाद ही कोर्ट आगे की कार्रवाई करेगी.

मेडिकल ग्राउंड पर मिली थी बेल

उल्लेखनीय है कि चारा घोटाले से जुड़े मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव को मेडिकल ग्राउंड पर बेल मिली थी. लालू पिछले कुछ दिनों से बीमार थे. पहले उनका इलाज दिल्ली में चल रहा था. बाद में मुंबई में इलाज कराकर वो पटना लौटे थे. वही झारखंड हाईकोर्ट के आदेश के बाद आरजेडी सुप्रीमो बुधवार को ही पटना से से रांची पहुंचे थे.

क्या है मामला

मालूम हो कि चारा घोटाले से जुड़े तीन अलग-अलग मामलों में सीबीआई की दो अलग-अलग अदालतों में हाईकोर्ट के निर्देश पर सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री को औपबंधिक जमानत की सुविधा दी गयी थी. यह सुविधा लालू को इलाज कराने के नाम पर दी गयी थी. हालांकि लालू के वकील के अनुरोध पर जमानत की अवधि बढ़ाते रही. गत 24 जुलाई को हाईकोर्ट ने लालू यादव के मामले में सुनवाई करते हुए कहा था कि लालू को औपबंधिक जमानत मिली है, ना की पूरी तरह से जमानत की सुविधा. इसके बाद हाईकोर्ट ने उन्हें निचले कोर्ट में 30 अगस्त तक सरेंडर करने का आदेश दिया था. ज्ञात हो कि चारा घोटाले से जुड़े दो मामलों में लालू यादव को सीबीआई कोर्ट ने सजा सुनाई है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: