JharkhandRanchi

लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर शुक्रवार को हाइकोर्ट में होगी सुनवाई, जेल में रहेंगे या बाहर आयेंगे, होगा फैसला

विज्ञापन

Ranchi: चारा घोटाला मामले में बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार होटवार में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर शुक्रवार को हाइकोर्ट में सुनवाई होगी. जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में सुनवाई के लिए लालू प्रसाद की याचिका सूचीबद्ध की गयी है.

दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद की ओर से जमानत के लिए याचिका दायर की गयी है.

इसे भी पढ़ें – #Zero_Tolerance वाली रघुवर सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि भी हो गयी दागदार

advt

हाइकोर्ट में टल गयी थी सुनवाई

29 नवंबर को लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर हाइकोर्ट में सुनवाई टल गयी थी. यह तीसरी दफा थी जब लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर हाइकोर्ट में सुनवाई टल गयी थी. इससे पहले 8 नवंबर और 22 नवंबर को भी लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर हाइकोर्ट में सुनवाई टल गयी थी. लेकिन एक बार फिर 29 नवंबर को हाइकोर्ट के अधिवक्‍ता के निधन के कारण लालू प्रसाद के मामले की सुनवाई टल गयी.

अगली सुनवाई 6 दिसंबर को तय की गयी थी. जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में लालू प्रसाद यादव के मामले की सुनवाई चल रही है. लालू प्रसाद ने चारा घोटाले के दुमका कोषागार मामले में जमानत की मांग की है.

सीबीआइ ने जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगा था

बता दें कि इससे पहले 8 नवंबर को हाइकोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान सीबीआइ ने जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगा था. झारखंड हाइकोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान सीबीआइ ने समय मांगा था. मामले की अगली सुनवाई 22 नवंबर को तय की गया थी.

बता दें चारा घोटाले से जुड़े दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू यादव ने जमानत मांगी है. लालू प्रसाद ने बीमारी का हवाला देकर याचिका दाखिल की थी. याचिका में बढ़ती उम्र और खराब स्वास्थ्य का हवाला दिया गया है. देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में उन्हें जुलाई में ही जमानत मिल चुकी है.

adv

इसे भी पढ़ें – नौकरी घोटाला : सरयू राय ने रिकॉर्ड जारी कर कहा, रघुवर ने 26 हजार युवकों को रोजगार देने का झूठा दावा किया

23 दिसंबर 2017 से जेल बंद हैं लालू प्रसाद

लालू प्रसाद को चारा घोटाले के दुमका, देवघर और चाईबासा मामले में सीबीआइ कोर्ट ने सजा सुनायी है. इन तीनों मामलों में 23 दिसंबर 2017 से वो जेल में हैं. बीमार होने की वजह से रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं.

बता दें कि लालू प्रसाद डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट की बीमारी, क्रॉनिक किडनी डिजीज, फैटी लीवर, पेरियेनल इंफेक्शन, हाइपर यूरिसिमिया, किडनी स्टोन, फैटी हेपेटाइटिस, प्रोस्टेट जैसी बीमारियों से जूझ रहे हैं.

इस वजह से उन्हें बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार में न रख कर रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती कराया गया है.

दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मामले में 7 साल की सुनायी गयी है सजा

बता दें कि चारा घोटाले से जुड़े दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मामले में 2 अलग-अलग धाराओं में लालू प्रसाद को 7-7 साल की सजा सुनायी गयी है, जबकि 60 लाख जुर्माना भी लगाया गया है.

वहीं देवघर कोषागार से 84.53 लाख रुपये की अवैध निकासी के मामले में उन्हें साढ़े तीन साल की सजा सुनायी गयी है, जबकि 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

चाईबासा कोषागार से अवैध तरीके से 37.7 करोड़ और 33.67 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मामले में पांच-पांच साल की सजा सुनायी गयी है. लालू प्रसाद की यह तीनों सजा एक साथ चल रही है.

इसे भी पढ़ें – #Forbes ने जारी की सूची, अजीम प्रेमजी एशिया के सबसे बड़े दानवीर, दान किये  52,750 करोड़ रुपये

advt
Advertisement

One Comment

  1. 988031 108456You created some decent points there. I looked online for the issue and identified many people may possibly go as properly as employing your internet website. 610326

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button