Court NewsJharkhandNEWSRanchiTOP SLIDER

लालू को चारा घोटाला मामले में नहीं मिली जमानत

Ranchi: चारा घोटाले से जुड़े दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की जमानत याचिका हाइकोर्ट ने आज खारिज कर दिया.  याचिका पर आज झारखंड हाई कोर्ट में जस्टिस अपरेश कुमार की अदालत में सुनवाई हुई.

इसमें अदालत ने आधी सजा पूरी करने वाली दलील को नहीं माना. लालू के वकील प्रभात कुमार ने बताया कि दो महीने बाद फिर से फ्रेश पिटीशन डालना होगा. हाई कोर्ट का कहना है कि आधी सजा पूरी करने में अभी दो महीने बाकी हैं. यानी दो महीने बाद लालू यादव को फिर से बेल पिटीशन देना पड़ेगा.

मालूम हो कि दुमका कोषागार मामले में में लालू प्रसाद को सीबीआइ कोर्ट ने दो अलग-अलग धाराओं में सात-सात साल की सजा सुनायी है.

इस मामले में पिछली सुनवाई 12 फरवरी को हुई थी. उस दिन अगली सुनवाई के लिए 19 फरवरी की तिथि तय हुई थी. अगली सुनवाई दो महीने बाद होगी.

मालूम हो कि लालू फिलहाल दिल्ली एम्स में उपचाराधीन हैं. कुछ दिन पूर्व तक रांची रिम्स में भर्ती थे. यहां तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें दिल्ली एम्स ले जाया गया था.

मालूम हो कि लालू प्रसाद के खिलाफ चारा घोटाले के पांच मामले चल रहे हैं. चार मामलों में उन्हें सजा मिली है. कुछ मामलों में उन्हें जमानत भी मिल चुकी है. दुमका कोषागार का मामला तीन करोड़ तेरह लाख अवैध निकासी से जुड़ा हुआ है.

इन मामलों में मिल चुकी है सजा

चारा घोटाला में लालू प्रसाद यादव पर झारखंड में कुल पांच मामले चल रहे हैं. इनमें से चार मामलों में उन्हें सजा मिल चुकी है. लालू को पहले ही चाईबासा के दो एवं देवघर मामले में हाईकोर्ट से जमानत मिल चुकी है, जबकि दुमका कोषागार मामले में उन्होंने हाईकोर्ट से जमानत मांगी है. डोरंडा कोषागार मामले में अभी निचली अदालत में सुनवाई चल रही है.

23 जनवरी को दल्ली रेफर हुए हैं

मालूम हो कि लालू प्रसाद यादव फिलहाल दिल्ली के एम्स में इलाजरत हैं. 23 जनवरी 2021 को उन्हें रांची रिम्स से दिल्ली एम्स रेफर किया गया था. उनकी किडनी में गंभीर शिकायत आने के बाद उन्हें एम्स रेफर किया गया था. इसके अलावे भी करीब एक दर्जन बीमारियों से पीड़ित हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: