NEWS

उत्तर प्रदेश में ईंट भट्ठे पर काम करनेवाले लोहरदगा के दर्जनों मजदूरों को कराया गया मुक्त

Lohardaga:  उत्तरप्रदेश-ग़ाज़ीपुर सैदपुर थानाक्षेत्र के तरांव पियरी स्थित एक ईंट भट्ठे से दर्जनों की संख्या में मजदूरों को छुड़ाया गया. इनसे बंधुआ मजदूर की तरह काम लिया जा रहा था. इसमें महिलाएं भी शामिल हैं.

ये मजदूर लोहरदगा जिले के हैं. जहां से इन मजदूरों को मुक्त कराया गया है, उस स्थान से भारी मात्रा में अवैध शराब व एक राइफल भी बरामद हुई है. जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है.

इसे भी पढ़ेंः नरेंद्र मोदी 30 मई को शाम सात बजे राष्ट्रपति भवन में पीएम पद की शपथ लेंगे

 मजदूरों से जबरन काम कराने की मिली थी जानकारी

जिलाधिकारी के.बालाजी से किसी ने शिकायत की थी कि तरांव के पियरी स्थित शांति ईंट उद्योग भट्ठे पर मालिक भीम सिंह यादव द्वारा कई मजदूरों से जबरदस्ती मजदूरी कराई जाती है. जिलाधिकारी ने इसका संज्ञान लेते हुए भट्ठे पर कार्रवाई करने को कहा. शनिवार को सैदपुर थाने की पूरी फोर्स वहां पहुंची.

वहां जांच के दौरान करीब 46 से 48 मजदूर मिले. जिसमें महिलाएं भी थीं. उन्हें वहां से छुड़ाकर टीम साथ ले आयी है. इस दौरान तलाशी में वहां से भारी मात्रा में अवैध शराब व एक राइफल भी बरामद हुई. जिसे पुलिस ने कब्जे में ले लिया है. वहीं मौके पर मजदूरों के अलावा कोई नहीं मिला.

संभवतः छापेमारी की खबर उन्हें मिल गयी थी. जिसके चलते वो फरार हो चुके थे.

इसे भी पढ़ेंः फॉरेस्ट गार्ड पोस्ट की लिखित परीक्षा 16 जून को, एडमिट कार्ड जारी

adv

काम नहीं करने पर मारपीट करायी जाती थी

मुक्त हुए बंधुआ मजदूर ने प्रशासनिक अधिकारियों को बताया कि ईट भट्टे के मालिक के द्वारा उनसे जबरदस्ती काम करवाया जाता था.

काम नहीं करने पर मारपीट भी की जाती थी. वहीं मुक्त हुए बंधुआ मजदूर में दर्जनों मजदूर झारखंड के लोहरदगा जिले के रहने वाले हैं.

इसे भी पढ़ेंः लातेहारः SDO सह LRDC जयप्रकाश झा समेत पांच रेवेन्यू अफसरों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज, जमीन का फर्जी दस्तावेज तैयार कर हड़प ली दिव्यांग की राशि

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: