न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एक महीने में एक लाख लोगों को आयुष्मान भारत योजना का मिला लाभ – जेपी नड्डा

समाज के अंतिम पायदान के व्यक्ति तक इस योजना का लाभ दिलाया जा सके इसके लिए हम प्रतिबद्ध हैं.

162

Delhi : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी.नड्डा ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेएवाई) शुरू होने के करीब एक महीने के भीतर एक लाख लोगों को इस महत्वकांक्षी योजना का लाभ मिला है.

mi banner add

नड्डा ने हिंदी में ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 23 सितंबर को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का शुभारंभ किया गया. जिसके एक महीने के अंदर एक लाख लोगों ने योजना का लाभ उठाया है. आने वाले समय में समाज के अंतिम पायदान के व्यक्ति तक इस योजना का लाभ दिलाया जा सके इसके लिए हम प्रतिबद्ध हैं.

इसे भी पढ़ें : सीबीआई ने अपने निदेशक आलोक वर्मा का किया बचाव, आरोपों को बताया दुर्भावनापूर्ण

उल्लेखनीय है कि इस योजना को विश्व का सबसे बड़ा स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम बताया जा रहा है. इससे देश के 55 करोड़ लोगों को चिकित्सा लाभ पहुंचने का अनुमान है.

इसे भी पढ़ें : दिल्ली की वायु गुणवत्ता पर राहुल गांधी ने कहा – यह एक गंभीर समस्या, इसे कम करना हमारी…

Related Posts

कर्नाटक  : स्पीकर ने कहा, आधी रात तक चर्चा कीजिए,पर विश्वासमत के लिए वोटिंग आज ही

स्पीकर केआर रमेश ने आज सदन में यह साफ कर दिया . कहा कि वह किसी भी कीमत पर आज ही विश्वासमत के लिए वोटिंग करायेंगे.

आकार और उम्र को लेकर कोई सीमा नहीं

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पहले आयुष्मान भारत) की देशभर में शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 23 सितंबर को झारखंड से की थी. योजना के तहत देश के दस करोड़ गरीब परिवारों को सालाना पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया गया है. योजना में परिवार के आकार और उम्र को लेकर कोई सीमा नहीं रखी गई है.

योजना शुरू होने के दो सप्ताह बाद राष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसी के सीईओ इंदु भूषण ने कहा कि 38 हजार लोगों ने योजना का लाभ उठाया है.

इसे भी पढ़ें : केंद्रीय सूचना आयोग ने पीएमओ को दिया निर्देश, कहा – मंत्रियों के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायतों…

इस योजना को तेलंगाना, ओडिशा, दिल्ली और केरल ने नहीं अपनाया

योजना के तहत देशभर में नौ हजार से अधिक अस्पतालों को शामिल किया गया है. देश के 32 राज्यों और संघ शासित प्रदेशों ने योजना को लागू करने के लिये केनद्र सरकार के साथ सहमति ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं. हालांकि फिलहाल तेलंगाना, ओडिशा, दिल्ली और केरल ने इस योजना को नहीं अपनाया है.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: