न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

‘खीर’ वाले बयान पर कुशवाहा का यू टर्न, कहा- बयान को जाति या पार्टी से जोड़कर न देखें

सामाजिक एकता के लिए कही थी बात- कुशवाहा

379

Patna:  राष्ट्रीय लोकतांत्रिक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने अगले आम चुनाव में नए समीकरण बनने संबंधी अपनी टिप्पणी पर सफाई देते हुए कहा कि उनके बयान को किसी जाति या पार्टी से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ेंःहार्दिक को जिग्नेश, राजद समेत कई पार्टियों का मिला समर्थन

सामाजिक एकता की कही थी बात

केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने अपने पुराने बयान पर सोमवार को सफाई देते हुए कहा कि उनके बयान को किसी जाति या पार्टी से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने केवल सामाजिक एकता की बात कही थी. साथ ही उन्होंने अपने बयान में राजद और भाजपा के संबंध में की गयी टिप्पणी पर कहा कि वह सभी को एनडीए के साथ लाकर 2019 में नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं. और वो एनडीए का हिस्सा हैं.

क्या कहा था कुशवाहा ने

उल्लेखनीय है कि शनिवार को पटना में एक कार्यक्रम के दौरान उनके दिए बयान पर बिहार की सियासत गर्म हो गई थी. 25 अगस्त को रालोसपा द्वारा बीपी मंडल जन्म शताब्दी समारोह के अवसर पर पटना में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुशवाहा ने कहा था कि अगर यदुवंशियों का दूध और कुशवंशियों का चावल मिल जाये तो ‘खीर’ बन सकती है. जाहिर है यदुवंशियों यानि यादवों को पारंपरिक रूप से दुग्ध उत्पादन से जोड़कर देखा जाता है और बिहार में यादव समाज को लालू प्रसाद यादव की पार्टी आरजेडी का माना जाता है. वहीं उपेंद्र कुशवाहा खुद कुशवाहा समाज से आते हैं, जिसके चावल की बात उन्होंने की.

इसे भी पढ़ेंः दिखावे की “चकाचौंध” में राज्य को डुबा तो नहीं रही “सरकार” ?

Whmart 3/3 – 2/4

तेजस्वी ने मिलायी थी हां में हां

वही कुशवाहा के इस बयान के बाद तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर उनकी हां में हां मिलायी थी, जिसके बाद सियासी माहौल और गरमा गया था. तेजस्वी ने फौरन प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया, ‘निसंदेह उपेंद्रजी, स्वादिष्ट और पौष्टिक खीर श्रमशील लोगों की जरूरत है. पंचमेवा के स्वास्थ्यवर्धक गुण न केवल शरीर बल्कि स्वस्थ समतामूलक समाज के निर्माण में भी ऊर्जा देते हैं. प्रेमभाव से बनाई गई खीर में पौष्टिकता, स्वाद और ऊर्जा की भरपूर मात्रा होती है. यह एक अच्छा व्यंजन है.’

कुशवाहा के सहयोगी दल भाजपा, जदयू और लोजपा ने उनके बयान को एक ‘मुहावरा’ बताते हुए कहा कि उसका कोई और अर्थ नहीं निकाला जाना चाहिए .

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like