न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

NDA में साइडलाइन हुए कुशवाहा? जानिए बिहार में सीट शेयरिंग का क्या है नया फॉर्मूला !

90

Patna: बिहार में एनडीए के घटक दलों में इनदिनों सब ठीक नहीं चल रहा. एक ओर जहां सीट बंटवारे को फॉर्मूला अब तक फाइनल नहीं हो सका है. वही रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर लगातार हमलावर हैं. इन सबके बीच राजनीतिक गलियारे से ये खबर आ रही है कि बिहार में लोकसभा सीट बंटवारे को फॉर्मूला तय हो चुका है. और जेडीयू-बीजेपी, 17-17 सीटों पर जबकि एलजेपी के 6 सीटों पर चुनाव लड़ने की संभावना है. यानी इस नये समीकरण में आरएलएसपी को जगह मिलती नहीं दिख रही है.

इसे भी पढ़ेंःदिल्ली में शरद यादव से मिले उपेंद्र कुशवाहा, क्या खेमा बदलेगी रालोसपा ?

कुशवाहा हुए साइडलाइन ?

सूत्रों की मानें तो बिहार में एनडीए के बीच सीट बंटवारे के फॉर्मूला तय हो चुका है. और पांच राज्यों के चुनाव नतीजे के बाद इसकी औपचारिक ऐलान किए जाने की संभावना है.  अंदरखाने में खबर है कि एनडीए और महागठबंधन, दोनों से ही नजदीकियां बनाने की रणनीति पर काम कर रहे उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी को एनडीए के सीट बंटवारे में जगह नहीं मिलती दिख रही है. वही बीजेपी और जेडीयू के बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने की संभावना है. जैसा कि अमित शाह और नीतीश कुमार ने पहले ही कहा है. यानी बिहार की कुल 40 लोकसभा सीटों में से 17 बीजेपी, 17 जेडीयू और बाकी बची 6 सीटों पर रामविलास पासवान की पार्टी एलजेपी के खाते में आ सकती है. अब इस फॉर्मूले में आरएलएसपी को राजग में जगह नहीं दी गयी है.

इसे भी पढ़ेंःभाजपा सांसद रवींद्र पांडेय पहुंचे कांग्रेस नेता रणविजय सिंह के घर, होने लगी खुसुर-फुसुर

जेडीयू-रालोसपा में टकराव

गौरतलब है कि राजग के दो घटक दलों रालोसपा और जेडीयू के रिश्ते कुछ ठीक नहीं है. दोनों के बीच अक्सर कड़वाहट दिखी जाती है. वही पिछले कुछ दिनों से केंद्रीय मंत्री कुशवाहा ने नीतीश कुमार पर एक के एक तीखे हमले किये हैं. बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बिहार में बीजेपी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने वाले उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी ने तीन सीटों पर जीत दर्ज की थी. इसके उन्हें नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री बनाया गया था.

इसे भी पढ़ेंःएनडीए का हिस्सा बने रहने के पक्ष में रालोसपा सांसद

ज्ञात हो कि कुशवाहा ने बिहार के बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव से सीट बंटवारे को लेकर दिवाली से पहले मुलाकात की थी, लेकिन सहमति नहीं बन सकी थी. जिसके बाद उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष से भी मिलने का वक्त मांगा था, लेकिन अभी तक उनकी मुलाकात नहीं हो सकी है. इधर, जेडीयू लगातार ये बात कह रही है कि वो एनडीए में बीजेपी और एलजेपी के साथ खुश हैं.

इसे भी पढ़ेंः18 वर्षों में भी नहीं बन पायी नयी राजधानी, कल झारखंड मनायेगा अपनी स्थापना की 18वीं वर्षगांठ

विरोधियों से बढ़ी कुशवाहा की नजदीकी

ज्ञात हो कि पिछले दिनों दिल्ली में अमित शाह-नीतीश कुमार के बीच सीट बंटवारे को लेकर फॉर्मूला तय होने के बाद ही उपेंद्र कुशवाहा ने आरजेडी नेता तेजस्वी के साथ मुलाकात की थी. जिसके बाद एनडीए ने सीट बंटवारे को फॉर्मूले की घोषणा को रोक दिया था.

इसे भी पढ़ेंःसबसे बड़ी इस्पात निर्माता कंपनी बनेगी टाटा स्टील, 2025 तक बढ़ायेगी…

वही रालोसपा के दो विधायकों के जेडीयू में शामिल होने की अटकलों के बीच कुशवाहा ने सोमवार को शरद यादव के साथ मुलाकात की थी. हालांकि, दोनों नेताओं ने इसे निजी मुलाकात बताया था. इधर कुशवाहा ने जेडीयू पर अपने दोनों विधायकों को तोड़ने का आरोप लगाते हुए नीतीश कुमार पर निशाना साधा था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: