Business

कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन होंगे नए मुख्य आर्थिक सलाहकार

New Delhi: केंद्र सरकार ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन को नया मुख्य आर्थिक सलाहकार नियुक्त किया है. उनका कार्यकाल 3 वर्ष का होगा. सरकार की ओर से जारी एक रिलीज में इस बात की पुष्टि की गयी है. व्यक्तिगत कारणों से जुलाई में अरविंद सुब्रमण्यन ने इस पद से इस्तीफा दे दिया था. कृष्णमूर्ति अरविंद सुब्रमण्यन की जगह अपनी सेवा देंगे. फिलहाल कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस में फाइनैंस के असोसिएट प्रोफेसर और सेंटर फॉर एनालिटिकल फाइनैंस के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर हैं. सुब्रमण्यन ने शिकागो से पीएचडी किया है और आइआइटी- आइआइएम के छात्र भी रह चुके हैं. सुब्रमण्यन की गिनती दुनिया के उच्च कोटि के बैंकिंग, कॉर्पोरेट गवर्नेंस और इकोनॉमिक पॉलिसी एक्सपर्ट में होती है.

बैंकिंग रिफॉर्म्स के लिए जाना जाता है

पूर्व में सेबी के कॉर्पोरेट गवर्नेंस कीएक्सपर्ट कमिटी और आरबीआई के लिए बैंकों के गवर्नेंस का काम करने वाली कमिटी का हिस्सा होने के साथ कॉर्पोरेट गवर्नेंस और भारत में बैंकिंग रिफॉर्म्स के लिए उन्हें जाना जाता है. इन सब क्षेत्रों में उनकी सेवाओं के कारण उन्हें इस पद के लिएचुना गया है.  सुब्रमण्यन वैकल्पिक निवेश नीति, प्राथमिक बाजार,माध्यमिक बाजार औररिसर्च पर बनी सेबी की कमिटी का भी हिस्सा रहे हैं. अकैडमिक करियर की शुरुआत से पहले सुब्रमण्यन न्यू यॉर्क में जेपी मॉर्गन चेज के साथ कंसल्टेंट के तौर पर काम कर चुके हैं. वह आइसीआइसीआइ के एलाइट डेरिवेटिव्स ग्रुप में मैनेजमेंट रोल में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.  

Catalyst IAS
ram janam hospital

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

Related Articles

Back to top button