न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोरेगांव-भीमा कांड: महाराष्ट्र सरकार ने Supreme court में Bombay High Court के आदेश को दी चुनौती

राज्य सरकार की इस अपील पर 26 अक्टूबर को सुनवाई होगी.

18

Delhi : महाराष्ट्र सरकार ने गुरूवार को उच्चतम न्यायालय में बंबई उच्च न्यायालय के उस आदेश को चुनौती दी. जिसमें कोरेगांव भीमा हिंसा की जांच पूरी करने की अवधि बढ़ाने के निचली अदालत के आदेश को निरस्त कर दिया था. राज्य सरकार की इस अपील पर 26 अक्टूबर को सुनवाई होगी.

इसे भी पढ़ें : मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांडः सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार और सीबीआई से मांगा जवाब

उच्च न्यायालय ने बुधवार को निचली अदालत के उस फैसले को निरस्त कर दिया था. जिसमें महाराष्ट्र पुलिस को हिंसा के इस मामले में जांच पूरी करने और आरोप-पत्र दायर करने के लिए ज्यादा समय दिया गया था. कोरेगांव भीमा हिंसा मामले में कई जानेमाने सामाजिक कार्यकर्ताओं को आरोपी बनाया गया है.

अपील पर तुरंत सुनवाई की जरूरत

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की पीठ ने महाराष्ट्र सरकार की तरफ से पेश हुए वकील निशांत कटनेश्वर की इस दलील पर विचार किया कि अपील पर तुरंत सुनवाई की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें : सीबीआई में भ्रष्टाचार : एनजीओ कॉमन कॉज ने SC में याचिका दायर की,  एसआइटी जांच की मांग की  

निशांत ने कहा कि यदि उच्च न्यायालय के आदेश पर रोक नहीं लगाई गई तो हिंसा के मामले के आरोपियों के खिलाफ निर्धारित अवधि में आरोप-पत्र दायर नहीं होने के कारण उन्हें वैधानिक जमानत मिल जाएगी.

पीठ ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार की अपील पर 26 अक्टूबर को विचार किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : TAX चोरी : तमिलनाडु और आंध्र में खनन कंपनियों के 100 से ज्यादा ठिकानों पर छापे

गिरफ्तारी की जांच के लिए एसआईटी गठित करने की मांग

इससे पहले, शीर्ष अदालत ने कोरेगांव-भीमा हिंसा मामले के सिलसिले में महाराष्ट्र पुलिस द्वारा पांच सामाजिक कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के मामले में दखल देने से इनकार कर दिया था और उनकी गिरफ्तारी की जांच के लिए एसआईटी गठित करने का अनुरोध भी ठुकरा दिया था.

इसे भी पढ़ें : छुट्टी पर भेजे गये सीबीआई चीफ आलोक वर्मा के घर के बाहर घूम रहे चार संदिग्ध हिरासत में

महाराष्ट्र पुलिस ने पांच कार्यकर्ताओं – वरवर राव, अरुण फरेरा, वर्नोन गोनसाल्विस, सुधा भारद्वाज और गौतम नवलखा – को कोरेगांव भीमा हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: