न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

प. बंगाल सरकार ने 800 टन प्याज आयात का आर्डर दिया, दाम 150 रुपये किलो के करीब पहुंचे

1,302

Kolkata :  पश्चिम बंगाल सरकार ने मिस्र से 800 टन प्याज के आयात के लिये नेफेड को आदेश दिया है. राज्य सरकार ने कहा है कि उसे यह खेप दिसंबर अंत तक मिल जानी चाहिये ताकि राज्य में प्याज की उचित दाम पर आपूर्ति की जा सके. एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी.

इसे भी पढ़ेंः निर्भया मामले के दोषी की दया याचिका खारिज, उपराज्यपाल ने गृह मंत्रालय को भेजी सिफारिश

Sport House

मुंबई तक पहुंचा कर 55 रुपये किलो के भाव पर दिया आर्डर

राज्य सरकार ने प्याज आयात का यह आर्डर मुंबई बंदरगाह तक पहुंचा कर 55 रुपये किलो के भाव पर दिया है. यह आर्डर भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ (नेफेड) के जरिये मंगाया जा रहा है. और उसी को इसका वितरण करने को कहा गया है.

पश्चिम बंगाल सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हमने कुल 800 टन प्याज के आयात का आर्डर दिया है. जिसमें से 200 टन प्रति सप्ताह के हिसाब से खेप दिसंबर माह में ही आ जायेगी. मुंबई बंदरगाह पर आ कर इसकी लागत 55 रुपये किलो पड़ेगी.

और वहां से कोलकाता पहुंचते पहुंचते यह प्याज 65 रुपये किलो तक पड़ जायेगा. ’’ प्याज का आयात मिस्र से किया जा रहा है.

Mayfair 2-1-2020

इसे भी पढ़ेंः #ShashiTharoor का सरकार से सवाल, पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था हासिल करने का रोडमैप क्या है?

केंद्र सरकार को बताया जिम्मेवार  

सूत्रों ने कहा कि नासिक थोक बाजार में बढ़िया किस्म के प्याज का दाम 5,400 रुपये प्रति 40 किलो तक पहुंच जाने की रिपोर्ट मिलने पर यहां शहर की पोस्ता थोक मंडी में बुधवार को दाम 125 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया.

इससे यह संकेत मिलता है कि सबसे अच्छे किस्म का प्याज खुदरा बाजार में धीरे धीरे 150 रुपये किलो के भाव की ओर बढ़ रहा है. राज्य सरकार की एजेंसियां हालांकि स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. राज्य सरकार ने प्याज की तंगी की स्थिति के लिये केन्द्र पर दोष मढ़ा है.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड की चुनावी सभाओं में तथ्यों को तोड़ने-मरोड़ने की पुरानी परिपाटी को ही दोहरा गये प्रधानमंत्री

SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like