NEWSWest Bengal

Kolkata: कोरोना काल में गिरा कपड़ा कारोबार, कारोबारियों को दुर्गा पूजा से उम्मीद

विज्ञापन
Advertisement

Kolkata: कोरोना काल में चौतरफा लॉकडाउन और लोगों को घरों से निकलने पर पाबंदी की वजह से कोलकाता का कपड़ा कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हुआ है.

कोलकाता के पोर्ट डिवीजन में मौजूद मटियाबुरुज इलाके में सबसे बड़ा कपड़ा कारोबार का हब है. यहां कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के जरिए देश दुनिया से कपड़े मंगाए जाते हैं। मूल रूप से मुंबई, सूरत, दिल्ली आदि कपड़े आते हैं, जिसे कोलकाता समेत राज्य के अन्य हिस्सों व देश के अन्य हिस्सों में भेज दिये जाते हैं.

इसे भी पढ़ें – Ramgarh में कोरोना का बढ़ा खतरा, 16 जुलाई तक रेडीमेड गारमेंट्स, फुटवियर, ज्वेलरी और इलेक्ट्रॉनिक सामान की दुकानें रहेंगी बंद

advt

मंदी की मार

परिवहन संसाधनों पर रोक और लोगों के घरों में रहने की वजह से कारोबार प्रभावित हुआ है. इस वजह से कपड़ा बाजार मंदी की मार झेल रहा है. बात चाहे शूटिंग की हो या बच्चों-बड़ों के रेडिमेड, साड़ी, हैंडलूम, होजरी, मृगनयनी की, पहले की तुलना में औसत 80-90 फीसद तक कारोबार कमजोर हुआ है.

पहले एक दिन में औसतन 10 करोड़ रुपये से अधिक होने वाला कारोबार होता था, जो अब डेढ़ से दो करोड़ पर सिमट गया है. इस कारण व्यापारी चिंतित हैं. साथ ही उम्मीद कर रहे हैं कि आने वाली दुर्गा पूजा से कारोबार बेहतर हो सकता है. साड़ी, कुर्ते आदि की बिक्री पहले की तुलना में आधी रह गयी है. सूरत, अहमदाबाद, दिल्ली, मुंबई, जयपुर आदि शहरों में कपड़े भेजे जाते हैं.

इसे भी पढ़ें – Dhanbad : कोविड अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव 23 पत्रकार बैठे अनशन पर

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: