West Bengal

कोलकाता : ममता बनर्जी ने धमकाया,  विपक्ष के संपर्क में रहने वाले नेता छोड़ दें तृणमूल कांग्रेस

किसान आंदोलन के समर्थन में 8 दिसंबर से मध्य कोलकाता में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने तीन दिवसीय धरना प्रदर्शन

विज्ञापन

Kolkata : विपक्ष के संपर्क में रहने वाले तृणमूल नेता पार्टी छोड़ने के लिए स्वतंत्र हैं. अगर एक नेता पार्टी से बाहर हो जाता है तो वह ऐसे लाख और नेता बना सकती हैं. पार्टी विरोधी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. यह चेतावनी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विपक्ष के संपर्क में रहने वाले असंतुष्ट नेताओं को दी है.

ममता बनर्जी इन नेताओं की पार्टी विरोधी गतिविधियों से भारी नाराज हैं. वैसे मुख्यमंत्री ने कोई नाम नहीं लिया, लेकिन पार्टी सूत्रों के अनुसार उनका इशारा हाल ही में मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने वाले असंतुष्ट नेता शुभेंदु अधिकारी सहित पार्टी के खिलाफ बोलने वाले कुछ अन्य विधायकों की ओर था.

इसे भी पढें : रिजर्व बैंक का बड़ा फैसला, 14 दिसबर से सातों दिन चौबीसों घंटे RTGS की सुविधा

ममता ने शुभेन्दु अधिकारी के पिता से बात की

इस संबंध में टीएमसी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि टीएमसी की बैठक में ममता बनर्जी ने कहा कि अगर एक नेता पार्टी से बाहर हो जाता है तो वह ऐसे लाख और नेता बना सकती हैं. ममता ने शुभेन्दु अधिकारी के पिता और पुरबा मेदिनीपुर टीएमसी प्रमुख और कांथी से सांसद शिशिर अधिकारी के साथ भी बात करते हुए उनसे पार्टी विरोधी गतिविधियों पर लगाम लगाने और पार्टी की जिला इकाई से विरोध खत्म करने को कहा.  टीएमसी नेता के अनुसार शिशिर दा ने कहा कि वह इस पर गौर करेंगे.

इसे भी पढें : भारत में कुल कोरोना पॉजिटिव के 4.35 फीसदी मरीज ही एक्टिवः स्वास्थ्य मंत्रालय

किसान आंदोलन को ममता का समर्थन

ममता बनर्जी ने नये कृषि कानूनों के खिलाफ उत्तर भारत में चल रहे किसानों के आंदोलन को अपना समर्थन दिया और टीएमसी की किसान शाखा से कहा है कि वह 8 दिसंबर से मध्य कोलकाता में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने तीन दिवसीय धरना प्रदर्शन करे.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: