न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोलकाता : प्लास्टिक गोदाम में आग लगी, अफरा-तफरी, अग्निशमन वाहनों ने आग पर काबू पाया

रात  12:45 बजे 93 बी काशीपुर रोड में स्थित प्लास्टिक कारखाने में लगी आग में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है.

25

Kolkata : कोलकाता के काशीपुर थाना इलाके में देर रात एक प्लास्टिक गोदाम में आग लगने से हड़कंप मच गया. रात  12:45 बजे 93 बी काशीपुर रोड में स्थित प्लास्टिक कारखाने में लगी आग में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है.  आग लगने की  वजह का पता नहीं चल सका है.  पुलिस ने बताया कि स्थानीय लोगों ने कारखाने से धुएं का गुब्बार और आग की लपटें निकलती देख थाने में फोन कर सूचना दी. प्लास्टि कारखाना होने की वजह से वहां बड़ी मात्रा में ज्वलनशील सामान मौजूद थे.

इसलिए आग तेजी से फैलने लगी.  अग्निशमन विभाग की एक गाड़ी तुरंत मौके पर पहुंची. दर्जनों अग्निशमन कर्मियों ने करीब साढे़ चार घंटे की मशक्कत के बाद रविवार सुबह 5:00 बजे के करीब आग पर काबू पाया. आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है.  इसके अलावा प्लास्टिक कारखाने में अग्निशमन व्यवस्था पुख्ता थी या नहीं, इस बारे में भी जांच होगी.

 

पढ़ें  : थल सेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने सेना के पूर्वी कमान मुख्यालय का दौरा किया

कोलकाता पुलिस की आपदा प्रबंधन की टीम मौके पर पहुंची

प्रत्यक्षदर्शियों ने दावा किया है कि रात को जब आग की लपटें निकलने लगी तो तत्काल सूचना दी गयी थी लेकिन अग्निशमन गाड़ियों को पहुंचने में देरी लगी.  इसलिए आग तेजी से फैल गयी थी.  इसके अलावा कारखाने के आसपास दुकानें तथा इमारतें मौजूद थीं.  आग  फैलने की आशंका से सारे लोग जग गये थे.  जहां आग लगी थी,  उसके आसपास मौजूद इमारतों में  बच्चों और महिलाओं को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया.  स्थानीय लोगों ने भी पानी आदि डालकर आग को फैलने से रोकने की कोशिश की.

सावधानी बरतते हुए कोलकाता पुलिस की आपदा प्रबंधन की टीम मौके पर पहुंची थी. आसपास के बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों को शिफ्ट करने की व्यवस्था की गयी थी.  हालांकि बाद में जब अग्निशमन की 7 गाड़ियां पहुंची और चारों तरफ से पानी डालकर आग को फैलने से रोक दिया गया.  तब लोगों ने राहत की सांस ली.  कारखाने के मालिक से पूछताछ कर पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि वहां अग्निशमन की पुख्ता व्यवस्था थी या नहीं.

पढ़ें- विपक्षी दलों ने श्रीनगर DM पर गलत तरीके से रोकने का आरोप लगाया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: