न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#West_Bengal बुलबुल चक्रवात से भारी तबाही, ममता ने नियंत्रण कक्ष से ली हालात की जानकारी, हवाई सर्वेक्षण करेंगी

1,829

Kolkata:  पश्चिम बंगाल में चक्रवात बुलबुल से भारी तबाही हुई है. समुद्र तटीय इलाकों में हाहाकार है. बुलबुल की मार से करीब एक लाख 65 हजार लोग विस्थापित हुए हैं. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नियंत्रण कक्ष पहुंचकर हालात की जानकारी ली. नुकसान का आकलन ड्रोन से किया जायेगा.

चक्रवात बुलबुल ने शनिवार रात करीब 8:00 बजे धरातलीय क्षेत्र में प्रवेश किया. करीब चार घंटे तक समुद्र के तटीय क्षेत्रों में उथल-पुथल मचा रहा. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य सचिवालय में बैठकर हालात पर निगरानी रखी. रात करीब 12:00 बजे ममता बनर्जी ने इस बारे में मीडिया से बात की. उन्होंने कहा कि चक्रवात बुलबुल से 100 से 200 किलोमीटर के क्षेत्र में तबाही हुई है.

Sport House

इसे भी पढ़ेंः द्रमुक ने केंद्र पर कश्मीर को ‘विशाल जेल’ में बदल डालने का आरोप लगाया, राष्ट्रीय शिक्षा नीति वापस लेने की मांग

वास्तविक स्थिति का आकलन करने के लिए रविवार सुबह से कोलकाता पुलिस का विशेष ड्रोन उड़ाया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभावित लोगों की हर संभव मदद की जा रही है. चक्रवात से करीब एक लाख 65 हजार लोग विस्थापित हुए हैं. इन लोगों को 118 शिविरों में रखा गया है. मौसम विभाग ने कहा है कि बुलबुल चक्रवात ने रात 8:00 बजे रात 12:00 बजे तक तांडव मचाया है.

कोलकाता में हवा की गति 60 किलोमीटर प्रति घंटे और अन्य जिलों में 100 से 110 किलोमीटर प्रति घंटे रही.कच्चे मकान ध्वस्त हो गये. कई इमारतों की छतें उड़ गई हैं. बड़ी संख्या में पेड़ टूटकर गिर गए हैं. हजारों घरों की टीन की छत उड़ गई है.

Mayfair 2-1-2020

बुलबुल का सबसे अधिक असर पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर जिले में हुआ है. उत्तर और दक्षिण 24 परगना में भी  लाखों लोग प्रभावित हुए हैं. दीघा, नामखाना, सुंदरबन जैसे पर्यटन क्षेत्रों के हजारों परिवार विस्थापित हुए हैं. रात को चक्रवात से जनहानि की सूचना नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः #JharkhandElection : BJP ने जारी की 52 उम्मीदवारों की सूची, 10 विधायकों के टिकट कटे

ममता ने रद्द की उत्तर बंगाल यात्रा,  करेंगी हवाई सर्वेक्षण

बुलबुल चक्रवात की वजह से प्रभावित लोगों की मदद सुनिश्चित करने के लिहाज से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपना उत्तर बंगाल दौरा रद्द कर दिया है. रविवार दोपहर सीएम ने ट्वीटर के जरिए यह जानकारी दी है. उन्होंने लिखा, “भयंकर चक्रवाती तूफान “बुलबुल” के कारण मैंने आगामी सप्ताह में अपनी उत्तर बंगाल यात्रा को स्थगित करने का निर्णय लिया है. , कल (सोमवार) मैं नामखाना और बकखाली (दक्षिण 24 परगना के आसपास के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करूंगी.

बाद में मैं चक्रवात प्रभावित लोगों के राहत और पुनर्वास उपायों की समीक्षा के लिए प्रशासन के साथ काकद्वीप में एक बैठक करूंगी. 13 नवंबर को उत्तर 24-परगना के बशीरहाट के चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों की यात्रा करने की भी योजना बना रही हूं.” उल्लेखनीय है की सीएम ने रातभर जगकर बुलबुल के प्रभाव पर नजर रखी थी. उन्होंने घोषणा की है कि राज्य सरकार तूफान प्रभावित लोगों की हरसंभव मदद  करेगी.

विस्थापित लोगों के पुनर्वास की व्यवस्था की जायेगी. चक्रवात से 1.65 लाख लोग प्रभावित हुए हैं जिन्हें 118 राहत शिविरों में रखा गया है.

इसे भी पढ़ेंः #InfrastructureProjects : 355 परियोजनाओं की लागत 3.88 लाख करोड़ रुपये बढ़ी : रिपोर्ट

SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like