West Bengal

#Kolkata : 9 मिनट में बंगाल में फोड़े गये छह करोड़ के पटाखे, प्रदूषण लेवल बढ़ा

विज्ञापन

Kolkata: कोरोना महामारी से पीड़ित लोगों के साथ एकजुटता जताने के लिए एक दीया जलाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर कोलकाता में इतने पटाखे फोड़े गये कि प्रदूषण का लेवल बढ़ गया.

लॉकडाउन की वजह से पूरे देश में कल-कारखाने, कंपनियां, संस्थान, लगातार कार्बन उत्सर्जन करती गाड़ियां बंद हैं. इसलिए हवा के प्रदूषण का लेवल धीरे-धीरे स्वच्छ हो रहा था. लेकिन प्रधानमंत्री के आह्वान के अनुसार रविवार रात नौ बजे से नौ मिनट के लिए दीप जलाने के कार्यक्रम के साथ कोलकाता समेत पूरे बंगाल में लोगों ने जम कर पटाखे छोड़े हैं.

advt

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona : 16 लाख टेस्टिंग किट, 1.5 करोड़ पीपीई, 2.7 करोड़ एन95 मास्क और 50 हजार वेंटिलेटर की जरूरत

98 लोग पटाखा फोड़ते गिरफ्तार

कोलकाता में तो पुलिस ने 98 लोगों को गिरफ्तार भी किया है. सोमवार को पता चला है कि पूरे राज्य में कम से कम छह करोड़ के पटाखे चलाये गये हैं. हालांकि ये पटाखे कहां से बेचे गये और प्रशासन इसे लेकर निष्क्रिय क्यों बना रहा, इस पर सवाल खड़े हो रहे हैं.

इसे लेकर पटाखा विक्रेता एसोसिएशन के अधिकारी बाबला रॉय से जब संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि जब पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा था तब पटाखा विक्रेताओं ने रविवार को जम कर आमदनी की है.

adv

उन्होंने बताया कि कोलकाता समेत पूरे राज्य में करीब छह करोड़ के पटाखों की बिक्री हुई है. उनसे जब पूछा गया कि लॉकडाउन में कहां बैठ कर पटाखों की बिक्री हुई, तब उन्होंने बताया कि चूंकि प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को ही दीये जलाने का आह्वान कर दिया था, इसीलिए इस बात का एहसास हो गया था कि दीये जलाने के साथ-साथ लोग पटाखे भी फोड़ सकते हैं. इसलिए कोलकाता समेत राज्य भर के विभिन्न क्षेत्रों में जो लोग पटाखे बेचते हैं, उनके पास आकर लोग ऑर्डर देकर चले गये थे और पहले से मौजूद स्टॉक की बिक्री आसानी से घर से ही हुई.

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona: सांसदों के वेतन में 30 फीसदी कटौती, राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति भी कम लेंगे वेतन

बढ़ा प्रदूषण लेवल

इधर जबरदस्त आतिशबाजी के कारण कोलकाता समेत राज्य भर की हवा का प्रदूषण लेवल कई गुना बढ़ चुका है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के नियमानुसार हवा में धूलकण की मात्रा 25 माइक्रोन से अधिक नहीं होनी चाहिए. रविवार रात सिर्फ नौ मिनट की आतिशबाजी की वजह से यह मात्रा छह गुना बढ़ गयी थी. रविवार रात कोलकाता में एयर क्वालिटी इंडेक्स 156 पर था जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है. हालांकि सोमवार सुबह तक एक बार फिर यह धीरे-धीरे सामान्य होने की ओर बढ़ चला था.

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona : सीएम हेमंत सोरेन ने राज्यपाल से कहा – संसाधनों की कमी से जूझ रहा राज्य, केंद्र से मदद उपलब्ध करायें

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close