ChaibasaJamshedpurJharkhandNEWSSaraikela

Kolhan University : केयू मुख्यालय में प्रवेश के लिए आई़डी कार्ड की अनिवार्यता को वापस ले विश्वविद्यालय, नहीं तो तालाबंदी के लिए रहे तैयार : छात्र संघ

Jamshedpur : कोल्हान विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा विगत दिनों केयू परिसर में प्रवेश करने के लिए आईडी कार्ड को अनिवार्य कर दिया गया है. साथ ही कोल्हान विश्वविद्यालय के संबंधित पदाधिकारियों से मिलने के लिए ई-मेल करने की सूचना प्रसारित की गई है. विवि के इन दोनों ही निर्देश का कोल्हान विश्वविद्यालय छात्र संघ द्वारा विरोध किया गया है. इसे लेकर छात्र संघ ने कोल्हान विश्वविद्यालय प्रशासन से प्रसारित किये गये दोनों सूचनाओं को 3 दिनों के अंदर वापस करने की मांग की गयी है. नहीं तो, छात्र संघ ने कोल्हान विश्वविद्यालय प्रशासन को विवि में तालाबंदी करने की चेतावनी दे डाली है.

विवि प्रशासन छात्र संघ की मांगों को लेकर गंभीर नहींः सुबोध

इस संबंध में कोल्हान विश्वविद्यालय छात्र संघ के सचिव सुबोध माहाकुड़ ने बताया कि विगत 9 मई के आंदोलन में विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह सूचना को वापस करने एवं परिचय पत्र की अनिवार्यता को खत्म करने का लिखित आश्वासन दिया था, लेकिन अबतक विश्वविद्यालय प्रशासन उपरोक्त मांगों को लेकर गंभीर नहीं है. जिससे छात्र-छात्राओं में काफी आक्रोश है. मैं प्रशासन से आग्रह करना चाहूंगा कि जल्द से जल्द छात्रों की जायज मांगों को सकारात्मक पहल करते हुए पूरा करने की दिशा में विश्वविद्यालय प्रशासन कार्य करें.

SIP abacus

मांगे नहीं मानी तो उग्र आंदोलन व तालाबंदी के लिए रहे तैयार

Sanjeevani
MDLM

पीजी विभाग के छात्र संघ अध्यक्ष सनातन पिंगुवा ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन लिखित आश्वासन को हल्के में ले रहा है. छात्र-छात्राओं में मूलभूत सुविधाओं को लेकर आक्रोश व्याप्त है. अतः विश्वविद्यालय प्रशासन उग्र आंदोलन से निपटने के लिए तैयार रहें. वहीं टाटा कॉलेज छात्र संघ के विश्वविद्यालय प्रतिनिधि मंजीत हांसदा ने कहा कि कोल्हान विश्वविद्यालय के तमाम छात्र-छात्राओं के साथ अन्याय हो रहा है. जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. अगर हमारी मांगों पर 3 दिनों के अंदर अगर विश्वविद्यालय प्रशासन ठोस निर्णय नहीं लेता है, तो हम सभी छात्र समुदाय उग्र आंदोलन करने के साथ ही विश्वविद्यालय में तालाबंदी करने को बाध्य होंगे.

ये भी पढ़ें- History of Jamshedpur : इतिहास के पन्नों पर जमशेदपुर – टिस्को की स्थापना से पड़ी लौहनगरी की बुनियाद, पंडित नेहरु से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक आ चुके हैं शहर

Related Articles

Back to top button