Education & CareerJamshedpurJharkhand

कोल्हान विवि  : बैठक में उठी मांग, घंटी आधारित अनुबंध सहायक प्राध्यापकों को नियमित कर वादा पूरा करे सरकार

Jamshedpur : कोल्हान विश्वविद्यालय में कार्यरत घंटी आधारित अनुबंध सहायक प्राध्यापकों की एक बैठक रविवार को श्रीकृष्ण पब्लिक स्कूल बिष्टुपुर में हुई. शिक्षकों को संबोधित करते हुए झारखंड सहायक प्राध्यापक अनुबंध संघ के प्रदेश संरक्षक डॉ एसके झा ने कहा कि 1978-1980 तथा 1982 में तात्कालिक रुप से नियुक्त शिक्षकों के नियमितीकरण के लिए स्टेच्यूट बनाया गया था. झारखंड सरकार ने 2017-18 में स्वीकृत पदों पर यूजीसी रेगुलेशन के तहत योग्य अभ्यर्थियों का चयन कुलपति की अध्यक्षता में गठित चयन समिति ने किया था, परंतु इनके साथ आज सौतेला व्यवहार किया जा रहा है.

झा ने कहा कि राज्य के सभी विश्वविद्यालयों में जेपीएससी से हो रही बैकलाग तथा नियमित नियुक्ति के बाद भी लगभग 1700 स्वीकृत पदों तथा 4181 रिक्त पद पड़े हैं. हमारे राज्य में छात्र-शिक्षक अनुपात 1-60 दर्शाया जा रहा है, परंतु धरातल पर यह अनुपात चौंकाने वाला है. हमारे राज्य में 13 वर्षों में एक बार अस्सिसटेंट प्रोफेसर की नियुक्ति होती है. राज्य के उच्च शिक्षित युवा का प्रोफेसर बनने का सपना तक साकार नहीं हो पाता है. ऐसी स्थिति में सरकार और विश्वविद्यालय से यही मांग है कि वर्तमान में कार्यरत घंटी आधारित अनुबंध सहायक प्राध्यापकों को यूजीसी रेगुलेशन के अनुसार ग्रेड पे के साथ नियमितीकरण के लिए स्टेच्यूट बनाये. संघ के उपाध्यक्ष डॉ केके कमलेंदू ने कहा कि अगर सरकार हमारी मांग को पूरा नहीं करती है तो माना जायेगा कि सरकार की कथनी और करनी में अंतर है, क्योंकि वर्तमान सरकार ने अनुबंध शब्द को हटाने का वादा किया था. परंतु अभी तक सरकार ने हमारी मांग को पूरा नहीं किया है.

संघ की सचिव डॉ अंजना सिंह ने कहा कि सरकार यथाशीघ्र हमारी मांग को पूरा करे तथा सभी विश्वविद्यालयों के सीनेट व सिंडिकेट से घंटी आधारित अनुबंध सहायक प्राध्यापकों के रेगुलराइजेशन हेतु स्टेच्यूट बना कर हमारे लिए सार्थक कदम उठाये. संघ की कोषाध्यक्ष अन्नपूर्णा ने आय-व्यय का विवरण भी प्रस्तुत किया, जिसे आमसभा की बैठक में संपुष्ट किया गया. बैठक में पांच प्रस्ताव पारित किये गये. मंच का संचालन डॉ हरेंद्र पंडित ने किया. अंत में धन्यवाद ज्ञापन डॉ पुष्पा तिवारी ने किया. बैठक में कोल्हान विश्वविद्यालय के अधीनस्थ सभी अंगीभूत महाविद्यालयों से लगभग 81 शिक्षक सम्मिलित हुए. मुख्य रुप से डाॅ मीरा कुमारी, डॉ मीरा पुष्पांजलि, डाॅ श्वेता सिवन, डॉ नम्रता, डॉ नीली बहादुर, डॉ अनीता, डॉ गोपीनाथ पांडेय, डॉ अमरेश कुमार, डॉ प्रभाष गोराई, डाॅ मीनू पांडेय, डॉ रबिया बेगम, डॉ मालती कुमारी, डॉ मुरारीलाल बैद्य, डॉ पूजा साहू, डॉ कंचन सिन्हा, डॉ रुचि स्मिता, डॉ कंचन गिरी, डॉ राकेश कुमार पांडेय, डॉ नेपाल चंद्र महतो, डॉ रविशंकर आदि बैठक में मौजूद थे.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें – Jamshedpur Accident: डिमना चौक पर लालजोड़ा पूजा करने जा रहे बाइक सवार को टेंपो ने टक्कर मारी, हुआ ये हाल

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

Related Articles

Back to top button