JharkhandKoderma

कोडरमा : शादी को लेकर हां ना के बाद मामला पहुंचा थाने, हार्ट अटैक से व्यक्ति की मौत

Koderma : शादी को लेकर तिलैया थाना में लड़का और लड़की पक्ष की तरफ से एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है. हीरोडीह निवासी लड़का पक्ष की शादी जोंगी (चंदवारा) निवासी गौशाला रोड लड़की पक्ष से तय हुई थी. शादी 29 नवंबर की तिथि तय की गई थी.

लड़का बतौर इंजीनियर उड़ीसा में कार्यरत है. 10 जुलाई को दोनों की जैन धर्मशाला में सगाई की रस्म अदा की गई. सगाई की रस्म में लड़का व लड़की पक्ष से सैकड़ों लोग उपस्थित हुए. इधर दोनों पक्ष की ओर से शादी की रस्म की तैयारी को लेकर तिलक समारोह का कार्यक्रम संपन्न हुआ. जिसके बाद शादी की तैयारी में दोनों पक्ष कार्ड छपवाने से लेकर विवाहस्थल तक का चयन कर लिया था.

advt

इस बीच 19 नवंबर को लड़की के द्वारा लड़के को कोडरमा स्टेशन पर बुलाकर शादी से इनकार करने के लिए काफी रिक्वेस्ट किया. साथ ही यह भी दबाव बनाया कि तुम हमारे परिजनों के सामने शादी से इंकार कर दो, लेकिन लड़का इस पर तैयार नहीं हुआ. किसी तरह बात पूरे क्षेत्र में फैल गई. बाद में लड़की ने फिर से यू टर्न लेते हुए 21 नवंबर को पुनः शादी करने की बात कहते हुए कहा कि हमसे भूल हो गई, किसी तरह शादी कर लीजिए.

23 नवंबर को लड़की पक्ष के द्वारा एक बार फिर से शादी के लिए दबाव बनाया. लेकिन लड़के ने साफ इंकार करते हुए अपने काम के लिए उड़ीसा निकल गया. इस बात की भनक लगते ही लड़की पक्ष की ओर से तिलैया थाने में लड़के के खिलाफ आवेदन देकर कहा कि शादी की तारीख तय होने के बाद लड़का शादी से इंकार कर रहा है. आवेदन के बाद थाना प्रभारी ने दोनों पक्ष को बुलाया. जहां दोनों पक्षों ने बारी-बारी से अपनी बातें रखी.

जिसके पश्चात थाना प्रभारी ने दोनों पक्ष को आपसी समझौता कर मामला निपटारा करने की सलाह दी. जिसे लेकर दोनों पक्षों की ओर से थाना परिसर स्थित शिव मंदिर में पंचायत रखी गई. पंचायत में पूर्व मुखिया लीलावती देवी, महेंद्र यादव, योग प्रचारक प्रदीप सुमन, रवि शंकर यादव, विजय मोदी, सुभाष मोदी, सुनील मोदी, प्रदीप मोदी सहित दोनों पक्षों की ओर से दर्जनों लोग मौजूद थे.

पंचायत स्तर पर दोनों पक्षों की ओर से बातचीत चल ही रही थी कि इस बीच पंचायत में लड़की पक्ष से शामिल होने आय चरघरा गिरीडीह निवासी केदार प्रसाद बरनवाल को हार्ट अटैक आया. जहां उसके दामाद सहित अन्य लोगों ने उसे तत्काल एक निजी क्लिनिक ले गया. जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. इस घटना के बाद पंचायत स्थगित करते हुए पुनः 3 दिसंबर को अगले पंचायत की तिथि रखी गई है.

 

इसे भी पढ़ें : त्रिपुरा: निकाय चुनाव में भाजपा को भारी जीत, 334 में 329 सीटें मिलीं

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: