JharkhandKoderma

कोडरमा : जिले में धड़ल्ले से हो रहा है बालू का उठाव, एनजीटी के आदेश की नहीं है परवाह

Koderma : जिले के सभी बालू घाटों से 10 जून से 15 अक्टूबर तक बालू उठाव पर रोक लगाई गयी है. रोक के बाद भी धड़ल्ले से बालू की तस्करी की जा रही है. झारखंड सरकार द्वारा एनजीटी के निर्देश पर बालू के उठाव और परिवहन पर प्रतिबंध लागू कर दी गई है. जिसके तहत 10 जून से आगामी 15 अक्टूबर तक बालू का खनन परिवहन को प्रतिबंधित किया गया है.

इसके बाद भी जयनगर प्रखंड के बराकर नदी के विभिन्न बालू घाटों से बालू का अवैध उत्खनन व परिवहन जोरों पर है. सरकारी आदेशों को धता बताते हुए लोग धड़ल्ले से बालू खनन कर रहे हैं. पहले भी अवैध रूप से ही इन बालू घाटों से बालू की तस्करी की जाती रही है.

इसे भी पढ़ें : पानी का बहाव तेज, कांची नदी पर धंसे पुल की जांच नहीं हो पायी शुरू

बस अंतर इतना है कि पूर्व में यह काम दिनदहाड़े किया जाता था. लेकिन अब यह काम रात्रि 3 बजे से सूरज निकलने से पूर्व कर लिया जा रहा है. मरकच्चो और जयनगर प्रखंड के बालू घाटों से प्रतिदिन बालू लदे लगभग एक सौ ट्रैक्टर सूर्योदय होने से पूर्व झुमरीतिलैया व कोडरमा के लिए निकल जाते हैं.

advt

एक ट्रैक्टर में डेढ़ सौ सीएफटी लोडिंग करके परिवहन किया जा रहा है. जिले के जयनगर में थाना प्रभारी अब्दुल्ला खान ने रविवार सुबह कंदरापड़ी बांझेडीह पावर प्लांट के समीप बालू परिवहन करते 7 ट्रैक्टर को पकड़कर बांझेडीह पिकेट में पहुंचाया है. थाना प्रभारी अब्दुल्ला खान ने कार्रवाई करते हुए खनन विभाग कोडरमा को कार्रवाई के लिए अग्रसारित किया है.

इसे भी पढ़ें :समाहरणालय का हालः आग लगे तो भगवान ही मालिक

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: