JharkhandKoderma

कोडरमा : महापरिनिर्वान दिवस पर बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर को किया गया याद

Koderma : संविधान निर्माता और भारत रत्न डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के 65वीं पुण्यतिथि पर सोमवार को विभिन्न जगहों पर आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में जिला परिषद प्रधान शालिनी गुप्ता ने भाग लिया. कोडरमा समाहरणालय के निकट डॉक्टर आंबेडकर पार्क में सोमवार सुबह जाकर उन्होंने डॉ भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित की. इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता असीम सरकार, बालेश्वर राम, दिनेश रविदास, अजीत वर्णवाल, सरजू दास, संजय कुमार, सुशील अग्रवाल, संजीव समीर, सहदेव दास, दुर्गा पासवान, शंकरलाल राणा, मनीष कुमार, प्रियंका, सुनीता, विजय पासवान, कैलाश दास के साथ अन्य लोग मौजूद थे.

ram janam hospital

वहीं झुमरीतिलैया स्थित सुभाष चौक पर पहुंच कर उन्होंने बाबा साहेब आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित की. इस दौरान उन्होंने कहा कि बाबासाहेब ने संविधान के जरिये देश के आम लोगों को शक्ति दी है. वे दलितों शोषितों की आवाज थे.

इसे भी पढ़ें :महाराष्ट्र के बाद झारखंड में भी ममता बनर्जी के तीसरे मोर्चे की राजनीति पर लगा ग्रहण

राजद ने बाबा साहब की पुण्यतिथि को महापरिनिर्वाण दिवस के रुप में मनाया

राष्ट्रीय जनता दल के निवर्तमान जिलाध्यक्ष रामधन यादव के नेतृत्व में भारत रत्न बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर की 65 वी पुण्यतिथि के अवसर पर सुभाष चौक स्थित बाबा साहब की आदम कद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रधांजलि अर्पित करते हुए इसे महापरिनिर्वाण दिवस के रुप में मनाया.

रामधन यादव ने कहा कि बाबा साहब भारतीय संविधान के प्रमुख निर्माता और स्वतंत्र भारत के पहले कानून मंत्री थे. वे एक विधिवेता, राजनीतिज्ञ, सामाजिक न्याय और समरसता के प्रबल पक्षधर और महान समाज सुधारक थे.

इसे भी पढ़ें :कार्डधारकों को अक्टूबर से आवंटित नहीं किया गया राशन, अंत्योदय कार्डवालों के खाते से 2 किलो अनाज की हो रही कटौती

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बाबा आंबेडकर की पुण्यतिथि पर नमन किया

सोमवार 6 दिसंबर को झारखंड प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष भागीरथ पासवान की अध्यक्षता में संविधान रचयिता भारत रत्न बाबा भीमराव आंबेडकर की पुण्यतिथि महापरिनिर्वाण दिवस के रूप में तिलैया बस्ती प्रतिमा स्थल के प्रांगण में मनाई गई.

सर्वप्रथम माला एवं पुष्पांजलि अर्पित करते हुए झारखंड प्रदेश असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष भागीरथ पासवान ने कहा कि बाबा साहब भारतीय संविधान के प्रमुख निर्माता और स्वतंत्र भारत के पहले कानून मंत्री थे. बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर दलितों, शोषित की आवाज बन गए थे.

कांग्रेसी नेता सुरेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि कमजोर वर्गों के छात्रों को छात्रावासों, रात्रि स्कूलों, ग्रंथालायो तथा शैक्षणिक गतिविधियों के माध्यम से अपने दलित वर्ग शिक्षा समाज संस्था 1924 के जरिए अध्ययन करने और साथ ही अर्जित करने के लिए उनको सक्षम बनाया.

मौके पर गणेश प्रसाद स्वर्णकार, नारायण वर्णवाल, उमेश साव, संजय सेठ, संजय कुमार शर्मा, प्रभात राम ने श्रद्धांजलि अर्पित कर बाबा साहब को नमन किया.

इसे भी पढ़ें :अखिलेश यादव की पार्टी के MLA प्रभु नारायण सिंह ने पकड़ा डिप्टी SP का गला, देखें वायरल Video

सेमिनार में वक्ताओं ने कहा, आंबेडकर के सपने अभी भी अधूरे

दलित शोषण मुक्ति कोडरमा के द्वारा देशरत्न भीमराव अंबेडकर की 65 वीं पुण्य तिथि के अवसर पर कोडरमा मे जिलाध्यक्ष दिनेश रविदास की अध्यक्षता मे सेमिनार का आयोजन किया गया. मुख्य वक्ता रामदेव विश्वबंधु ने बताया कि बाबासाहेब का सपना था कि देश में कोई उंच-नीच, अमीर-गरीब न रहे.

इसे भी पढ़ें :बिहार : खुसरूपुर स्टेशन पर झाझा-पटना मेमू ट्रेन में गोलीबारी, तीन यात्री घायल

Advt
Advt

Related Articles

Back to top button