JharkhandKoderma

#Koderma: सीएम की आस में लोग घंटों बैठे रहे, कोडरमा आये, पर कायर्क्रम में नहीं पहुंचे रघुवर तो धैर्य टूटा, किया हंगामा

विज्ञापन

Jaynagar: लोगों के धैर्य का बांध उस वक्त टूट गया जब उन्हें पता चला कि जिनके इंतजार में वो घंटों बैठे थे, वे नहीं आयेंगे. जयनगर के गोहाल हाट मैदान में पॉलीटेक्निक कालेज के शिलान्यास व अन्य कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रघुवर दास को शामिल होना था.

वह कोडरमा तो आये पर न तो कार्यक्रम स्थल पर आये और अन्य किसी कार्यक्रम में भाग लिया. वह सीधे रांची चले गये. इससे वहां उपस्थित लोगों को गुस्सा पूट पड़ा.

आक्रोशित लोगों ने सभा स्थल के आसपास लगाये गये सरकारी योजनाओं से जुड़े बैनर-पोस्टर को फाड़ दिया. हूटिंग करते हुए सीएम मुर्दाबाद, मंत्री-विधायक वापस जाओ आदि नारेबाजी की.

हेलिकॉप्टर पर सवार होने जाते सीएम रघुवर दास.

इसे भी पढ़ें – #NobelPrize: अर्थशास्त्र का नोबेल मिलने के बाद बोले अभिजीत बनर्जी – डंवाडोल है भारतीय अर्थव्यवस्था, सुधरने के तुरंत आसार नहीं

बाद में शिक्षा मंत्री डॉ नीरा यादव व विधायक प्रो. जानकी यादव ने किसी तरह मंच संभाला और लोगों से मुख्यमंत्री के सीधे रांची चले जाने को लेकर माफी मांगी और कहा कि शाम होने से मुख्यमंत्री का हेलिकॉप्टर नहीं उड़ पाता.

लोगों के शांत होने पर मंत्री व विधायक ने करीब एक अरब 32 करोड़ 57 लाख रुपये की योजनाओं का शिलान्यास/उद्घाटन किया.

जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री रघुवर दास गोहाल में राजकीय पॉलिटेक्निक संस्थान का शिलान्यास करने के लिए निर्धारित समय से करीब ढ़ाई घंटे देरी 5:40 बजे पहुंचे, लेकिन कुछ ही मिनटों में बिना शिलान्यास किये वापस हेलीकॉप्टर से रांची के लिए उड़ गये.

इसे भी पढ़ें – #TTPS नियुक्ति घोटाले के साक्ष्य न्यूज विंग के पास, पूर्व एमडी के खिलाफ जांच समिति ने नहीं सौंपी तय समय पर अपनी रिपोर्ट

धरी रह गयी तैयारियां

मुख्यमंत्री रघुवर दास के कायर्क्रम को देखते हुए वहां बड़े स्तर पर तैयारी की गयी थी. साथ ही सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किये गये थे.

सीएम से बात नहीं हुई

कार्यक्रम में काफी संख्या में लोग पहुंचे थे. इस सभा को सीएम को संबोधित भी करना था, पर शाम हो जाने के कारण कार्यक्रम में सीएम ने शिरकत नहीं की. ऐसे में सीएम को सुनने पहुंचे लोगों में निराशा दिखी. लोगों को योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन के रूप में सौगात तो मिली, पर सीएम का न वे संबोधन सुन पाए और न ही सीएम के समक्ष अपनी बात रख पाये.

इसे भी पढ़ें – बैंक ऑफ महाराष्ट्र पर नजर जमाये रखें, यहां भी हैं गड़बड़ियां

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close