न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोडरमा : नक्सलियों ने छुपाकर रखे थे हथियार, सुरक्षाबलों ने किया बरामद

730

Koderma : सतगावां थाना क्षेत्र के कटैया जंगल में मंगलवार की सुबह सर्च ऑपरेशन के दौरान सीआरपीएफ ने हथियार बरामद किये हैं. सूचना के आधार पर जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाया गया था.

इस दौरान सीआरपीएफ ने कार्रवाई करते हुए जमीन के अंदर गड़े हुए 315 बोर देसी रायफल 2 पीस, 315 बोर देसी कारबाईन 1 पीस, 315 बोर देसी कट्टा 1 पीस, 315 बोर देशी जिंदा कारतूस 11 पीस, 315 बोर का खोखा 10 पीस, पावर जेल एक्सपोलेसिव 125 ग्राम 2 पीस, इलेक्ट्रिक डेटोनेटर 2 पीस, इलेक्ट्रिक तार 10 मीटर, बेल्ट एमोनेशन 1 पीस बरामद किया.

इसे भी पढ़ें- कोल कारोबारी अग्रवाल, साहू और अफसरों का करीबी गुप्ता देता है गैंगस्टर अमन श्रीवास्तव को संरक्षण

गुप्त सूचना के आधार पर चलाया गया सर्च ऑपरेशन

सीआरपीएफ को गुप्त सूचना मिली थी कि सतगावां थाना क्षेत्र के कटैया जंगल में कुछ अज्ञात लोगों को देखा गया है. साथ ही वहां पर उग्रवादियों की गतिविधियों की भी सूचना मिली थी.

इसी सूचना के आधार पर सीआरपीएफ ने मंगलवार के सुबह कटैया जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाया. इस सर्च अभियान में सीआरपीएफ ने हथियार और कई सामान बरामद किए.

इसे भी पढ़ें- #धारा 370: राज्यसभा में पास होने के बाद आज लोकसभा में पेश होगा जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल

नवादा-कोडरमा सीमा क्षेत्र पर बढ़ी है नक्सल गतिविधियां

मिली जानकारी के अनुसार हाल के दिनों में नवादा कोडरमा सीमा क्षेत्र के जंगल में नक्सली गतिविधियां देखने को मिल रही हैं. नक्सल गतिविधि की सूचना पर बिहार के नवादा जिला की पुलिस और झारखंड के कोडरमा जिला की पुलिस सीमावर्ती जंगलों में लगातार सर्च ऑपरेशन भी चला रही है. हालांकि इस दौरान एक भी बार पुलिस और नक्सलियों के बीच आमना-सामना नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ें- तकनीकी शिक्षा विभाग मानता है नहीं हो सकता है अवर सचिव अजय सिंह के बिना उनका काम, इसलिए 12 सालों से जमे हैं

नवादा से बरामद हुआ था विस्फोटक

4 अगस्त को बिहार के नवादा जिले के सिरदला थाना क्षेत्र के पार कुरहा गांव में सुबह छापेमारी में हथियारों का जखीरा बरामद हुआ था. पुलिस के द्वारा की गई छापेमारी के दौरान चार केन बम सहित दर्जनों डेटोनेटर बरामद हुए थे, साथ ही पिस्तौल, दर्जनों गोलियां और चार नक्सली वर्दी भी मिले थे. इस दौरान पुलिस ने पूछताछ के लिए एक को हिरासत में लिया गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
झारखंड की बदहाली के जिम्मेदार कौन ? भाजपा, झामुमो या कांग्रेस ? अपने विचार लिखें —
झारखंड पांच साल से भाजपा की सरकार है. रघुवर दास मुख्यमंत्री हैं. वह हर रोज चुनावी सभा में लोगों से कह रहें हैं: झामुमो-कांग्रेस बताये, राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन कह रहें हैं: 19 साल में 16 साल भाजपा सत्ता में रही. फिर भी राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
लिखने के लिये क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: