Crime NewsJharkhandKoderma

कोडरमा : गांजा बरामदगी मामले में आरोपियों को 10 वर्ष की सजा, छह महीने में सुनाया गया फैसला

Koderma : कोडरमा के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह विशेष न्यायालय (एनडीपीएस एक्ट) बिरेंद्र कुमार तिवारी की अदालत ने कोडरमा के एक बहुचर्चित मामले में अभियुक्त दीप नारायण सिंह एवं साहेब सिंह को दस-दस वर्ष के सश्रम कारावास एवं एक-एक लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है. दोनों अभियुक्त तिलैया थाना अंतर्गत खुदरा पट्टी गली, झुमरी तिलैया के निवासी हैं. दोनों आपस में भाई हैं.

बता दें कि 13.08.2020 को शाम पांच बजे पुलिस गश्ती ने गुप्त सूचना के आधार पर उक्त अभियुक्तों के खुदरा पट्टी स्थित आवास की तलाशी ली और पांच बैग में भरे लगभग 62 किलो अवैध गांजा बरामद किया गया था.

इसे भी पढ़ें :Breaking News : क्रुणाल पांडया Corona पॉजिटिव, भारत औऱ श्रीलंका के बीच दूसरा टी-20 मैच स्थगित

जिसके बाद उक्त अभियुक्तों के विरुद्ध आरोप गठित कर प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह विशेष न्यायालय (एनडीपीएस एक्ट) में विचारण प्रारंभ किया गया.

न्यायालय ने इस कांड की गंभीरता को देखते हुए इसका त्वरित गति से विचारण करते हुए मात्र छह महीने में ही इस कांड में अहम फैसला सुनाया.

इसे भी पढ़ें :गुजरात का हड़प्पाकालीन शहर धोलावीरा यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों में हुआ शामिल

न्यायालय ने गवाहों द्वारा दिए गए बयान एवं अभिलेख पर उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर इस कांड के आरोपी उपरोक्त दोनों अभियुक्तों को एनडीपीएस एक्ट के तहत दोषी मानते हुए दस-दस वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है.

इसके साथ ही एक-एक लाख रूपये अर्थदंड लगाया है. अर्थदण्ड की राशि जमा नहीं करने पर छह महीने अतिरिक्त साधारण कारावास की सजा दी गयी है.

वर्चुअल मोड में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस मामले में निर्णय सुनाया गया है.

इसे भी पढ़ें :बिहार में पीएम पैकेज की 90 योजनाओं में 18 हो चुकीं पूरी, पैकेज से अब तक 16,890 करोड़ हो गया विकास पर खर्च

Related Articles

Back to top button