JharkhandKoderma

कोडरमा : केटीपीएस पावर प्लांट के विस्थापित किसानों को अब तक नहीं मिला मुआवजा

जिला प्रशासन, डीवीसी के लापरवाही और भ्रष्टाचार के कारण किसानों के जमीन का मुआवजा अभी तक नहीं हो पाना किसानों के साथ धोखाधड़ी है

Koderma :  कोडरमा जिला  के जयनगर प्रखंड में डीवीसी के द्वारा 2007 में केटीपीएस पावर प्लांट की शुरुआत की गयी थी. इसका निर्माण कार्य पूरा कर विद्युत उत्पादन चालू कर दिया गया,लेकिन अभी तक कई विस्थापित किसानों को भूमि के मुआवजे का भुगतान नहीं किया गया है. भाकपा माले नेता मुन्ना यादव ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि जयनगर अंचल अधिकारी और कोडरमा अपर समाहर्ता के द्वारा कई बार नोटिस कर किसानों की भूमि के कागजात लिये गये.

अपर समाहर्ता के कार्यालय में किसानों के साथ बैठक भी की गयी.   वर्ष 2012 में कोडरमा अपर समाहर्ता के द्वारा आश्वासन दिया गया कि भुगतान किया जायेगा, पर अभी तक किसानों को मुआवजा भुगतान नहीं किया गया है.    जिला प्रशासन, डीवीसी के लापरवाही और भ्रष्टाचार के कारण किसानों के जमीन का मुआवजा अभी तक नहीं हो पाना किसानों के साथ धोखाधड़ी है. किसानों को गोलबंद कर जोरदार आंदोलन करने की बात कही जा रही है.

इसे भी पढ़ें : हाय रे डिस्टिलरी तालाब! पार्क ने किया ‘अधमरा’, ये नया सब्जी मार्केट तो जान ही लेकर मानेगा

Catalyst IAS
ram janam hospital

विस्थापितों में शामिल  किसान

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

विस्थापितों में बद्री मोदी पिता स्वर्गीय घनश्याम मोदी मौजा खेड़ोबर, उमा देवी पति आनंद कुमार बरनवाल, जगदीश मोदी पिता स्वर्गीय घनश्याम मोदी, निर्मला देवी, अब्दुल हमीद, बीबी आबिदा खातून, बीबी बत्तूलन, देवंती देवी, प्रकाश यादव, ललिया देवी सरजू शर्मा, मसो जसिया, ललिया देवी, टीको राणा, रूपनारायण राणा, मुंशी बढही, रूपनारायण राणा, कन्हाई यादव, शेखावत मियां, मुपफदी अंसारी, कौलेशवर सिंह, पुनिया देवी, बालेश्वर चौधरी, राजेंद्र यादव, मुन्ना यादव, परमेश्वर यादव, वासुदेव यादव आदि को अभी तक मुआवजा नहीं मिला है. माले नेता श्री यादव ने कहा कि प्रशासन संज्ञान ले, नहीं तो आंदोलन कर पावर प्लांट के कार्य को ठप किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : निजी उद्योगों में 80 फीसदी नौकरियां स्थानीय युवाओं को देने की नीति बनायेंगे: हेमंत

संयुक्त विस्थापित प्रभावित मोर्चा की बैठक

जयनगर प्रखंड के कोडरमा थर्मल पावर एडीएमएन बिल्डिंग परिसर में संयुक्त विस्थापित प्रभावित मोर्चा की बैठक हुई. इसकी अध्यक्षता शिवकुमार यादव ने जबकि संचालन सतीश भारती ने किया. वहीं समाजसेवी सह युवा नेता उमेश यादव ने कहा डीवीसी विस्थापितों के साथ छलने का काम कर रहा है अगर विस्थापितों को काम नहीं दिया गया तो लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन किया जाएगा.

वहीं समाजसेवी अरुण यादव ने कहा कि डीवीसी प्रबंधक और कंपनी विस्थापित मजदूरों के प्रति कोई सहानुभूति नहीं रखता है.  9 नवंबर को बैठक कर समिति का गठन किया जायेगा और डीवीसी को मांग पत्र सौंपा जायेगा. मौके पर प्रेम कुमार यादव, सूरज कुमार यादव, वीरेंद्र यादव, अर्जुन यादव, सहदेव यादव, सुनील कुमार सिंह, राजन सिंह, सतीश कुमार, संजीत कुमार, राजू यादव, बीरबल शर्मा, सुजीत गिरि, ललन कुमार सहित कई लोग मौजूद थे.

 

इसे भी पढ़ें :  32 आदिवासी समुदायों के प्रतिनिधियों ने कहा- सरना नहीं, आदिवासी धर्म कोड चाहिए

Related Articles

Back to top button