JharkhandKoderma

कोडरमा : लोकल बॉडीज कर्मचारी संघ की बैठक में मजदूरों के शोषण के खिलाफ आंदोलन तेज करने का निर्णय

आउटसोर्सिंग में काम करने वाले मजदूरों के अधिकारों पर लगातार हमला हो रहा है. आउटसोर्सिंग पर काम कर रहे मजदूरों को काम से निकाला जा रहा है

 Koderma :  नगर निकाय के सफाई कर्मचारियों का यूनियन झारखंड लोकल बॉडीज कर्मचारी संघ की बैठक सियाराम की अध्यक्षता में कोडरमा में संपन्न हुई. बैठक का संचालन सुदामा कुमार दास ने किया. बैठक में पिछले सप्ताह हुई हड़ताल की समीक्षा की गयी. आउटसोर्सिंग, संविदा व्यवस्था तथा सफाई कर्मचारी की बहाली में शैक्षणिक योग्यता की बाध्यता खत्म करने की मांगों पर आंदोलन तेज करने का आह्वान किया गया.

इसे भी पढ़ें : केंद्र अपना रुख बदले, नहीं तो बंद किये जायेंगे झारखंड से केंद्र को मिलने वाले संसाधन- जेएमएम

झुमरीतिलैया नगर पर्षद में 1 नवंबर को निकाय सम्मेलन

बैठक में संगठन को मजबूत करने के लिए निकाय स्तर व जिला स्तरीय सम्मेलन करने का निर्णय लिया गया. इसके तहत झुमरीतिलैया नगर पर्षद में 1 नवंबर, डोमचांच नगर पंचायत में 10 नवंबर और नगर पंचायत कोडरमा में 15 नवंबर को निकाय सम्मेलन तथा 25 दिसंबर को जिला सम्मेलन करने का निर्णय लिया गया.

बैठक को संबोधित करते हुए सीटू राज्य कमिटी सदस्य संजय पासवान ने कहा कि देश आज भयानक आर्थिक संकट से गुजर रहा है. केंद्र की भाजपानीत मोदी सरकार की नीतियों के कारण और कोरोना की आड़ में बेरोजगारी अपने चरम पर है. छोटे-बड़े कारोबार करने वाले लोगों का धंधा चौपट हो गया है, हर तरफ हाहाकार है.

इसे भी पढ़ें : अशोक नगर सोसायटी मामला : कॉलर चमका कर ‘भ्रष्टाचार’ रोकने निकले अधिकारी मनोज कुमार के ही दामन पर हैं भ्रष्टाचार के आरोपों के दाग

मजदूरों के अधिकारों पर लगातार हमला हो रहा है

आउटसोर्सिंग में काम करने वाले मजदूरों के अधिकारों पर लगातार हमला हो रहा है. कहा कि इसलिए जनविरोधी सरकार और शोषण के खिलाफ आंदोलन और तेज करना होगा. मजदूर कर्मचारी समन्वय समिति के जिला सचिव दिनेश रविदास ने कहा कि कोरोना काल में जो मजदूर कर्मचारी कोरोना वारीयर के रूप में काम कर रहे हैं, उनकी अनदेखी की जा रही है.

महंगाई भत्ता काट दिया गया. संविदा आउटसोर्सिंग पर काम कर रहे मजदूरों को काम से निकाला जा रहा है. ऐसे में संघर्ष ही एक मात्र रास्ता है.  बैठक में सियाराम, कन्हैया कुमार, सुदामा कुमार दास, लक्ष्मण दास, अजय दास, सुनील डोम, अनिल कुमार, रवि कुमार, दिलीप राम, परमेश्वर कुमार, सन्नी राम, सौरव कुमार दास, विकी कुमार, राधेश्याम दास आदि शामिल थे.

adv

इसे भी पढ़ें : रांची में बेखौफ मिलावटखोर, दो सालों में कोई नहीं हुआ दंडित

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: