Fashion/Film/T.V

जानिये फिल्म ‘लुटेरा’ के Theme song के लिए अमित त्रिवेदी पर लगा था किसकी धुन चुराने का आरोप

म्यूजिक डायरेक्टर, गायक, गीतकार के जन्मदिन पर विशेष

Naveen Sharma

Ranchi : अमित त्रिवेदी बॉलीवुड के सबसे मल्टी टेलेंटेड व्यक्तियों में शुमार हैं. वे संगीत की दुनिया के वादक, रिकार्ड निर्माता, गायक, संगीतकार और गीतकार के रूप में काम कर रहे हैं.

मुंबई में एक गुजराती परिवार में जन्मे अमित का रुझान बचपन से ही संगीत की ओर था. उनका परिवार मूलत: गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला है.

गायिका शिल्पा राव की सिफारिश पर मिला था ब्रेक

19 साल की उम्र से ही अमित त्रिवेदी ने म्यूजिक कंपोज करना शुरू कर दिया था. कॉलेज के दिनों में वो ‘ओम’ नाम के एक बैंड से जुड़ गए थे. उनकी किस्मत तब चमकी जब एक म्यूजिक कंपनी ने एक शो के दौरान उन्हें नोटिस किया और एक एल्बम में मौका दिया.

हालांकि प्रमोशन की कमी के चलते एल्बम के बारे में ज्यादा किसी को पता नहीं चला. अमित इसके बाद थियेटर से जुड़ गए. उन्होंने टेलीविजन शोज के लिए भी बैकग्राउंड म्यूजिक तैयार किए. साथ ही कई बड़ी कंपनियों के लिए जिंगल्स बनाए.

गायिका शिल्पा राव ने एक दिन फिल्म निर्माता व निर्देशक अनुराग कश्यप को अमित त्रिवेदी के बारे में बताया. जब अनुराग अपनी फिल्म के लिए एक नए संगीतकार की तलाश कर रहे थे तो उन्होंने अमित त्रिवेदी को बुलाया. इस तरह उन्हें ‘देव डी’ में मौका मिला.

इसे भी पढ़ें :VIDEO: प्रेमी जोड़ों को ग्रामीणों ने पकड़ कर दी ऑन स्पॉट सजा

‘आमिर’ से 2008 म्यूजिकल करियर की शुरुआत की

अनुराग ने ही अमित का नाम निर्देशक राज कुमार गुप्ता को फिल्म ‘आमिर’ के लिए सुझाया था. ‘देव डी’ को रिलीज होने में काफी वक्त लग गया. इस तरह 2008 में अमित त्रिवेदी ने फिल्म ‘आमिर’ से अपने म्यूजिकल करियर की शुरुआत की.

इसे भी पढ़ें :बिना कनेक्शन 5 वर्ष बाद ग्रामीणों को भेजा गया 30-30 हजार का बिजली बिल

‘इमोशनल अत्याचार’ से मचाया धमाल, नेशनल अवॉर्ड भी जीता

2009 में ‘देव डी’ रिलीज हुई. अमित के करियर को इसने एक बड़ा प्लेटफॉर्म दिया. इस फिल्म में अमित ने ‘इमोशनल अत्याचार’ गाना बनाया. इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर का नेशनल अवॉर्ड मिला.

इसे भी पढ़ें :दुबई में फंसे झारखंड के 17 मजदूर, वतन वापसी की लगायी गुहार

उड़ान’ और क्वीन’ के म्यूजिक के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड

2010 में आई अनुराग कश्यप की फिल्म ‘उड़ान’ और 2014 की नेशनल अवॉर्ड विनिंग फिल्म ‘क्वीन’ के लिए अमित को बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर और बैकग्राउंड स्कोर के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड से नवाजा जा चुका है.

इसके अलावा उन्होंने ‘लुटेरा’, ‘इशकजादे’, ‘काय पो चे’, ‘नो वन किल्ड जेसिका’, ‘उड़ता पंजाब’ और ‘मनमर्जियां’ जैसी फिल्मों में संगीत दिया.

ब्रिटिश संगीतकार रेचेल पॉर्टमैन को किया था ईमेल

इन सबके बीच अमित त्रिवेदी पर कुछ ऐसे भी आरोप लगे जिससे सभी हैरान रह गए. फिल्म ‘लुटेरा’ का थीम संगीत, ब्रिटिश संगीतकार रेचेल पॉर्टमैन की धुन से काफी मेल खा रहा था. इसके लिए उन पर चोरी का आरोप लगा.

अमित ने बताया था कि ‘रेचेल के गीत वन डे की शुरुआती धुन का नोट वैसे तो अलग है लेकिन एक आम आदमी अगर उसे सुने तो वह एक जैसा लगेगा.’

अपने ऊपर से इस आरोप को हटाने के लिए उन्होंने रेचेल के घर फोन किया और उन्हें एक ईमेल भी भेजा लेकिन कोई रिस्पॉन्स नहीं मिलने की वजह से मामला खत्म हो गया.

अमित बॉलिवुड के सबसे टैलंटेड कंपोजर्स में से एक माने जाते हैं. उनका म्यूसजिक दूसरे कंपोजर्स से काफी अलग माना जाता है. उनकी कई ट्यून्सस में लोकल फोल्कभ म्यूकजिक की झलक देखने/सुनने को मिलती है जो कि सीधे दिलों में उतरती है.

इसे भी पढ़ें :सांसद आदर्श ग्राम में पीने के पानी को मोहताज लोग, आजादी के 73 वर्ष बाद भी गांव तक नहीं पहुंचा स्वच्छ पानी

आइये आपको अमित के 10 हिट गानों के बारे में बताते हैं

ओ परदेसी

2009 में आई फिल्मअ ‘देव डी’ का यह गाना उस समय का सबसे क्ला सी गाना माना गया. यह लोगों के बीच काफी पॉप्यु लर हुआ और अमित त्रिवेदी को इंडस्ट्रीक में पहचान मिली.

संवार लूं

‘लुटेरा’ फिल्मह के इस रोमांटिक लव ट्रैक को मोनाली ठाकुर ने आवाज दी है. अमित त्रिवेदी का म्यूलजिक काफी मनोरंजक और मधुर है.

इकतारा

रणबीर कपूर स्टािरर फिल्म ‘वेक अप सिड’ का यह गाना सुन आप खुद से प्याार करने लगेंगे, साथ ही अपनी जिंदगी से भी. गाने को लूप पर सुनते हुए फील गुड होता है.

मांझा

फिल्म ‘काय पो चे’ का यह गाना काफी इंस्पाीयरिंग है. अपनी म्यूाजिक और लिरिक्सू के कारण यह गाना खूबसूरत बन पड़ा है. म्यूपजिक काफी अथेंटिक और ट्रडिशनल लगता है.

इसे भी पढ़ें :Breaking News : काशी विश्वनाथ मंदिर व ज्ञानवापी मस्जिद मामले में पुरातात्विक सर्वेक्षण को दी मंजूरी

लव यू जिंदगी

फिल्म का यह ट्रैक फिल्म के कोर से मैच करता है. यह गाना रिलेशनशिप के खट्टे-मीठे अनुभवों को दर्शाता है जैसा कि हमारे जीवन में होता है. अमित त्रिवेदी का बैकग्राउंड स्को र दिल को छू लेता है.

एफ फॉर फ्यार

‘मनमर्जियां’ फिल्मक का यह ट्रैक बिलकुल डिफरेंट है. ग्लोउबल बीट्स के साथ इस पंजाबी ट्रैक में अमित की स्टााइल देखने को मिलती है. रैप से लेकर भांगड़ा तक का फ्लेवर इस गाने में है.

उड़ दा पंजाब

फिल्मा ‘उड़ता पंजाब’ का यह ट्रैक पूरी तरह से पंजाब के युवाओं को डेडिकेटेड जो ड्रग्सस और ऐल्कॉरहॉल के अडिक्टज हैं. अमित ने खुद इस भांगड़ा-हिप हॉप गाने को अपनी आवाज दी है. गाने के बीच में विशाल ददलानी का रैप है.

लंदन ठुमकदा

‘क्वीकन’ फिल्मन का यह गाना काफी इलेक्ट्रि फाइंग है. गाना काफी एनर्जी से भरपूर और कैची है. शादियों में डीजे पर यह गाना न बजे तो जैसे सबकुछ अधूरा होता है.

ये फितूर मेरा

फिल्मे ‘फितूर’ के इस गाने में अमित त्रिवेदी की क्ला‍स देखने को मिलती है. अरिजीत सिंह की आवाज में गाया गया यह गाना सबसे हटकर है.

गल मिठ्ठी मिठ्ठी

फिल्मठ ‘आएशा’ का यह गाना तोची रैना ने गाया है. इस पंजाबी नंबर को आप किसी भी फंक्शिन में प्लेम कर थिरक सकते हैं.

इसे भी पढ़ें :24 घंटे में लेना था एक्शन डेढ़ महीने से पेंडिंग है कंप्लेंट, किसी काम का नहीं निगम का नंबर.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: