BiharLead News

जानिये, कौन हैं आरसीपी सिंह- आइएएस अधिकारी से केंद्रीय मंत्री बनने का सफर

Patna : जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह (रामचंद्र प्रसाद सिंह) केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने जा रहे हैं. केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होनेवाली जारी सूची में उनका नाम पांचवें नंबर पर है. आरसीपी सिंह नीतीश कुमार के काफी करीबी कहे जाते हैं. आरसीपी सिंह राज्यसभा सांसद होने के साथ-साथ जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं.

राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह को जेडीयू ने अपना नया अध्यक्ष बनाया था. खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इनके नाम का प्रस्ताव रखा था. जिसके बाद सर्वसम्मति से इन्हें जेडीयू का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया था.

इसे भी पढ़ेंःRCP Singh के बाद उपेंद्र कुशवाहा होंगे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष? मुस्कुरा कर दिया जवाब

बिहार चुनाव के दौरान पार्टी की रणनीति तय करना, प्रदेश की अफसरशाही को कंट्रोल करना, सरकार की नीतियां बनाना और उसको लागू कराने जैसे काम उनके कंधे पर रहा जिसे उन्होंने बखूबी निभाया. उन्हें जेडीयू का चाणक्य भी कहा जाता है.

आरसीपी सिंह यानी रामचंद्र प्रसाद सिंह ने जेएनयू से उच्च शिक्षा प्राप्त की थी. यूपी कैडर के आइएएस अधिकारी रहे हैं. आरसीपी सिंह पहली बार नीतीश कुमार के संपर्क में तब आये जब 1996 में तत्कालीन केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा के निजी सचिव के रूप में वह तैनात थे.

नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह के बीच दोस्ती इसलिए भी गहरी हुई क्योंकि दोनों ही बिहार के नालंदा से हैं और एक ही जाति के हैं.

इसे भी पढ़ेंः अन्नपूर्णा देवी सहित 43 मंत्रियों के नाम फाइनल

कहा यह भी जाता है कि नीतीश कुमार आरसीपी सिंह के नौकरशाह के तौर पर उनकी भूमिका से काफी प्रभावित थे. नीतीश कुमार जब केंद्रीय मंत्री बने तो आरसीपी सिंह को अपने साथ ले गये नीतीश कुमार रेल मंत्री बने तो आरसीपी सिंह को विशेष सचिव बनाया.

नवंबर 2005 में नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री बने तो आरसीपी सिंह को साथ लेकर बिहार भी आ गये और प्रमुख सचिव की जिम्मेदारी दे दी.

इसके साथ ही आरसीपी सिंह की पकड़ JDU में धीरे-धीरे मजबूत होने लगी जिसके बाद 2010 में आरसीपी सिंह ने वीआरएस लिया और फिर जेडीयू ने उन्हें राज्यसभा में नामित किया और 2016 में पार्टी ने उन्हें फिर से राज्यसभा भेज दिया.

राज्यसभा सांसद बनने के बाद आरसीपी सिंह जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने और अब आरसीपी सिंह केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःअनुकंपा पर सरकारी नौकरी पाने में हिंदी टाइपिंग अब जरूरी नहीं

Related Articles

Back to top button