Jharkhand Vidhansabha Election

जानें कांग्रेस कोटे से कौन हो सकते हैं मंत्रिमंडल में शामिल, इन नामों पर चर्चा तेज

Ranchi : झारखंड चुनाव में प्रचंड जीत के साथ महागठबंधन के सहयोगी दलों में सरकार बनाने की कवायद शुरू हो गयी है. कांग्रेस और जेएमएम विधायकों की एक बैठक मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष और झामुमो अध्य़क्ष शिबू सोरेन के आवास में आयोजित की गयी.

गठबंधन के घटक दलों की बैठक में सरकार बनाने की रणनीति पर विचार किया जायेगा. ऐसे में यह बात तेजी से आ रही है कि कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते विधायकों में किसे मंत्रिमंडल में शामिल किया जायेगा. सूत्रों का दावा है कि मंत्री पद के बंटवारे में जाति समीकरण को भी देखा जाना तय है.

इसे भी पढ़ें – आसान नहीं होनेवाली है विधानसभा में हेमंत की डगर, सामने होंगे सात दिग्गज और प्रखर वक्ता

राजेंद्र सिंहः बेरमो से चुनाव जीत कर आये राजेंद्र सिंह का एक बार फिर मंत्री बनना तय माना जा रहा है. इंटक के दिग्गज नेता राजेंद्र सिंह पहले भी कई बार बेरमो सीट से पार्टी का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. संयुक्त बिहार में दो बार मंत्री रह चुके राजेंद्र सिंह राज्य गठन के बाद वर्ष 2005 में उत्कृष्ट विधायक का सम्मान पाने के साथ-साथ कांग्रेस विधायक दल के नेता का दायित्व भी संभाल चुके हैं. 2013 में हेमंत सोरेन सरकार में नंबर दो की हैसियत रखनेवाले राजेंद्र सिंह वित्त, ऊर्जा, स्वास्थ्य सहित कई महत्वपूर्ण पदों को संभाल चुके हैं.

आलमगीर आलम एवं इरफान अंसारीः कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीत कर आये आलमगीर आलम और इरफान अंसारी का नाम अल्पसंख्यक कोटे से लिया जा रहा है. चर्चा यह है कि अगर उम्र और स्वास्थ्य का हवाला देते हुए आलमगीर को विधानसभा स्पीकर बनाया जाता है, तो इरफान का कैबिनेट में जाना तय है.

इसे भी पढ़ें – #JVM और आजसू को मिला मजबूत विपक्ष का जनादेश, दोनों दलों को अपना वजूद निखारने की भी चुनौती

बन्ना गुप्ताः कोल्हन के पश्चिम जमशेदुपर सीट से चुनाव जीत कर आये बन्ना गुप्ता भी मंत्री बनने की रेस में आगे हैं. हेमंत सोरेन सरकार में बन्ना गुप्ता मंत्री रह चुके हैं. उन्हें कांग्रेस के ही पूर्व मंत्री योगेंद्र साव की जगह मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था.

कांग्रेस के 16 विधायकों में इस बार चार महिला चुनाव जीत कर आयी हैं. जाहिर है महिला कोटे से भी एक को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाये. महागामा से दीपिका पांडेय सिंह, झरिया पूर्णिमा नीरज सिंह, रामगढ़ से ममता देवी और बड़कागांव से अंबा चुनाव जीती हैं. महिला कोटे से इन चारों में एक का मंत्री बनाया जाना तय है. बताया जा रहा है कि इन चारों में अंबा और दीपका पांडेय सिंह के मंत्री बनने की चर्चा जोरों से है. इनमें दीपका पांडेय सिंह अभी महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय सचिव के पद पर हैं.

आदिवासी चेहरे की बात करें, तो कांग्रेस कोटे से प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव, कोलेबिरा सीट से दूसरी बार चुनाव जीत कर आये विक्सल कोंगाड़ी में से एक का मंत्री बनना तय है. इसमें भी रामेश्वर उरांव का नाम जोरों से चर्चा में है.

इसे भी पढ़ें – चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का नया पद बनाने को कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्योरिटी ने दी मंजूरी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: