BiharBihar UpdatesLead NewsNational

जानिये ऐसा क्या किया जिसकी वजह से एक बार फिर चर्चा में हैं पटना के सिटी एसपी रहे IPS शिवदीप लांडे

पटना से लांडे के ट्रांसफर पर लोग उतर गये थे सड़कों पर

Mumbai :  पटना के एसएसपी रहे  बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस (IPS) अधिकारी शिवदीप वामन राव लांडे (Shivdeep Wamanrao Lande) एक बार फिर से चर्चा में हैं. इस बार वे बिहार में नहीं बल्कि अपने गृह राज्य महाराष्ट्र में चर्चा में हैं. बता दें कि लांडे इस समय महाराष्ट्र एटीएस (Anti Terrorist Squad) के डीआईजी (DIG) के तौर पर काम कर रहे हैं. लांडे कुछ साल पहले ही बिहार से महाराष्ट्र प्रतिनियुक्ति पर गए थे.

शिवदीप लांडे ने रविवार को सोशल साइट्स पर एक पोस्ट कर दावा किया कि हिरेन मर्डर केस की गुत्थी को सुलझा लिया गया है. बता दें कि हाल ही में मुंबई के एक पॉश इलाके में विस्फोटकों से भरा वाहन पाए जाने के कुछ दिनों बाद ही मनसुख हिरेन का शव नदी किनारे पाया गया था. ये गाड़ी मनसुख हिरेन का था.

इसे भी पढ़ें :महाराष्ट्र मामले को लेकर सत्तापक्ष ने राज्यसभा में किया हंगामा, कार्यवाही स्थगित

 मनसुख हिरेन केस का किया खुलासा

बता दें कि महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के अकोला जिले के निवासी शिवदीप वामन राव लांडे नारकोटिक्स डिपार्टमेंट में एसपी के पद पर तैनात थे.  इस दौरान उन्होंने नशे के सौदागरों के खिलाफ मुहिम चलाकर कई सफल आपरेशन को अंजाम दिया था. इस दौरान करोड़ों का मादक पदार्थ पकड़कर एक रिकॉर्ड भी बनाया.

पटना के सिटी एसपी रहते अपराधियों पर कसी थी नकेल

पटना के सिटी एसपी रहते हुए भी लांडे ने अपराधियों और काले धंधे में शामिल लोगों के लिए खौफ का पर्याय बन गए थे. लांडे परीवीक्षाधीन अधिकारी के रूप में नक्सल प्रभावित जिले मुंगेर से 2010 में कैरियर की शुरुआत की थी. वह मुंगेर में ही अपर पुलिस अधीक्षक रहे. इसके बाद पटना के सिटी एसपी के रूप में उन्होंने राजधानी क्षेत्र में काम किया.

इसे भी पढ़ें :उत्तराखंड के सीएम रावत बोले, ज्यादा राशन चाहिए था तो 20 बच्चे पैदा करने चाहिए थे

पटना से हटाकर अररिया का पुलिस अधीक्षक बनाया गया था

नवंबर 2011 में जब शिवदीप लांडे को राजधानी पटना से हटाकर अररिया का पुलिस अधीक्षक बनाया गया तो पटना में लोगों ने तबादले का काफी विरोध किया था. युवाओं और छात्रों ने राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था. युवाओं में विशेष लोकप्रिय लांडे के प्रशंसकों ने उनके नाम पर सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर अकाउंट खोल रखा है. फेसबुक पर उनके हजारों फॉलोवर हैं.

इसे भी पढ़ें :Jharkhand Budget Session: सरयू राय ने सदन में पूछा कौन है वैद्यनाथ प्रसाद, 2 महीने में बताएगी सरकार

विनायक शिंदे और नरेश धारे हुए हैं गिरफ्तारी

मनसुख हिरेन की मौत के मामले में एटीएस ने महाराष्ट्र पुलिस के कांस्टेबल विनायक शिंदे और नरेश धारे समेत एक बुकी को गिरफ्तार किया है. हिरेन की मौत के मामले में दो आरोपियों को रविवार को अदालत में पेश भी किया गया. अदालत ने इन दोनों को ही 30 मार्च तक एटीएस की कस्टडी में भेज दिया है. गौरतलब है कि ठाणे के व्यवसायी मनसुख हिरेन की मौत की जांच बीते शनिवार को एनआईए को सौंप दी गई थी. मुंबई के एक पॉश इलाके में विस्फोटकों से भरा वाहन पाए जाने के कुछ दिनों बाद हिरेन का शव नदी किनारे पाया गया था. विस्फोटकों से भरी स्कॉर्पियो की बरामदगी से जुड़े मामले की जांच एनआईए कर रही है.

इसे भी पढ़ें :लुका-छिपी खेलते हुए अनाज की टंकी में छुपे थे बच्चे, दम घुटने से पांच की मौत

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: