JharkhandRanchi

अपने दिल से ये जानते हैं पराये दिल का हाल : राजीव रंजन प्रसाद

Ranchi :  महागठबंधन सरकार की बढ़ती लोकप्रियता से घबराकर ऐसा लगता है कि मुद्दाविहीन भाजपा नेताओं के द्वारा अनर्गल बयानबाजी और विधवा प्रलाप करने की प्रतियोगिता चल रही है. उक्त बातें पूर्व मंत्री अमर बाउरी के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कही.

इसे भी पढ़ेंः सिमडेगा में हुए मॉब लिंचिंग के खिलाफ सभी प्रखंड मुख्यालय में 11 जनवरी को भाजपा करेगी प्रदर्शन : आदित्य साहू

भाजपा ने टैक्स के पैसों से सिर्फ हाथी उड़ाने के सिवा और कुछ नहीं किया:

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में अमर बाउरी खुद भी मंत्री थे, झारखंड के लोगों ने देखा है कि कैसे राज्य की गरीब जनता के टैक्स के पैसों से सिर्फ हाथी उड़ाने के सिवा और कुछ नहीं किया. मोमेंटम झारखंड का आडम्बर, निवेश लाने के नाम पर विदेशों की सैर, गरीबों के कंबल में घोटाला , करोड़ों के लागत से बने कोनार डैम का चूहों के द्वारा कुतरा जाना, टी-शर्ट, टॉफी खरीद राष्ट्रीय बागवानी मिशन नमक घोटाला स्वास्थ्य उपकरण खरीद जैसे घोटालों की फेहरिस्त को भुलाया नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः चाकुलिया : कोरोना जांच में पाये गये 7 पॉजिटिव

भाजपा के शासनकाल में हथियार लूटे जाते थे:

राज्य की जनता जानती है कि भाजपा के शासनकाल में मुख्यमंत्री के आवास के बगल से पुलिस की इंसास राइफल लूटे जाते थे. दिनदहाड़े हत्याएं होती थी. किनके संरक्षण में अपराधियों का मनोबल चरम पर रहता था. महागठबंधन सरकार के सत्ता संभालने के बाद दुर्दान्त उग्रवादियों को मनोबल तोड़ने के कठोर कदम उठाये जा रहे हैं. उनके थिंक टैंक की गिरफ्तारी हुई है.

स्कॉलरशिप के आधार पर आदिवासी छात्रों को पढ़ने के लिए विदेश भेजने की शुरुआत हो गई:

महागठबंधन सरकार ने शत-प्रतिशत स्कॉलरशिप के आधार पर आदिवासी छात्रों को पढ़ने के लिए विदेश भेजने की शुरुआत की गई. खिलाड़ियों को सम्मान एवं रोजगार देने की शुरूआत की. अब तो स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड की योजना मूर्त रूप लेने जा रही है किसानों की ऋण माफी के साथ साथ महामारी के काल खंड में भी मनरेगा के तहत राज्य गठन के बाद से अबतक का उच्चतम मानव कार्यदिवस का कीर्तिमान हासिल किया है.

अब जनता इन बयानवीर नेताओं के झांसे में नहीं आने वाली:

जनता भाजपा के बयानवीर नेताओं के झांसे में आनेवाली नहीं है. काठ की हांडी बार बार नहीं चढ़ती है. सीमित संसाधनों के बावजूद कोरोना के पिछले दोनों लहरों के दौरान जीवन और जीविका दोनों का बेहतर खयाल रखा है. तीसरी लहर से निबटने के लिए भी पूरी तरह से तैयार है. स्वास्थ्य महकमा राज्य के सवा तीन करोड़ जनता की इतनी ही चिंता है तो भाजपा प्रेसवार्ता और सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म से बाहर आये और जनता की सेवा करे.

इसे भी पढ़ेंः पलामू : घर के पास पीपल के पेड़ पर चिपकाये गये मोबाइल नंबर पर संपर्क कर उग्रवादी बना था भवानी

Advt

Related Articles

Back to top button