न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: सीएम पर अपमानजनक टिप्पणी मामले में केएन त्रिपाठी ने सरेंडर कर ली जमानत

1,306

Medininagar: पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केएन त्रिपाठी ने शनिवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में आत्मसमर्पण किया. बाद में सुनवाई के बाद उन्हें 10 हजार के दो मुचलकों पर जमानत दे दी गयी.

सीएम रघुवर दास के खिलाफ दिया था अनर्गल बयान

विदित हो कि केएन त्रिपाठी के विरुद्ध सदर थाना के सुआ निवासी विजयानन्द पाठक ने 8 फरवरी 2017 को राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास को अपमानित करने हेतु तथ्य से परे बयान मीडिया में दिया था. साथ ही फेसबुक पर भी बयान का प्रसारण किया था. इस मामले में शहर थाना में नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. भादवि की धारा 500, 504 व 505 के तहत मामला दर्ज किया गया था.

इसे भी पढ़ेंः पलामू: दो युवकों की मौत से सनसनी, पुलिस जांच में जुटी

अग्रिम जमानत के लिए केएन त्रिपाठी ने दायर की थी याचिका

इस मामले में केएन त्रिपाठी ने जिला जज चतुर्थ के न्यायालय में अग्रिम जमानत की याचिका दाखिल की थी.  जिसमें 13 मार्च को न्यायालय द्वारा 10000 के दो मुचलकों पर अग्रिम जमानत प्रदान की गयी. इस आलोक में श्री त्रिपाठी ने शनिवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में आत्मसमर्पण किया और बेल बांड दाखिल किया.

क्या कहा था केएन त्रिपाठी ने

श्री पाठक का आरोप है कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, समाचार पत्र, मोबाइल, फेसबुक और यूट्यूब तथा एक स्थानीय न्यूज चैनल पर कृष्णानंद त्रिपाठी द्वारा यह कहा गया कि वर्तमान मुख्यमंत्री रघुवर दास नशेड़ी हैं. नशे में धुत रहते हैं. मुख्यमंत्री को केएन त्रिपाठी द्वारा अपमानित किया गया और चरित्र हनन के उद्देश्य से इस तरह का वक्तव्य दिया गया, ताकि आम जनता में उनकी छवि धूमिल हो.

इसे भी पढ़ेंः गोवा में कांग्रेस ने सरकार बनाने का दावा पेश किया, राज्यपाल को पत्र लिख कर सरकार को बर्खास्त करने को कहा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: