न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मध्याह्न भोजन वाले स्कूलों के किचन उपकरण बदले जायेंगे, प्राधिकरण ने जारी किया पत्र

जिला शिक्षा अधीक्षकों से 15 अप्रैल तक रिपोर्ट मांगी

1,198

Ranchi:  राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में मध्याह्न भोजन के किचेन उपकरणों को बदलने के लिए स्कूल शिक्षा साक्षरता विभाग की ओर से निर्देश जारी किया गया है. स्कूली शिक्षा साक्षरता विभाग अंतर्गत झारखंड राज्य मध्याह्न भोजन प्राधिकरण के निदेशक उमाशंकर सिंह की ओर से सभी जिला शिक्षा अधीक्षकों को निर्देश दिया गया है.

जिसमें मध्याह्न भोजन देने वाले स्कूलों के किचेन उपकरणों को बदलने के लिए रिपोर्ट मांगी गयी है. प्राधिकरण की ओर से निर्गत पत्र में कहा गया है कि स्कूलों को उनकी प्राथमिकता के आधार पर किचेन उपकरण बदलने के लिए राशि आवंटित की जायेगी.

जिससे विद्यालय अपने आवश्यकतानुसार बर्तन या अन्य उपकरणों की खरीदारी कर सकते है. पूर्व में स्कूल शिक्षा साक्षरता विभाग के प्रधान सचिव ने भी निम्न कोटि के स्कूलों को राशि आवंटित करने के संबध में पत्र निर्गत किया था.

hosp3

इसे भी पढ़ेंः गुमलाः मृत पशु मामले में दो लोग गिरफ्तार, आठ पर नामजद प्राथमिकी

प्रत्येक पांच साल में बदले जाते है उपकरण

मध्याह्न भोजन संचालित स्कूलों में प्रत्येक पांच साल में किचेन उपकरण बदले जाते है. जिसमें स्कूलों में छात्रों की संख्या और क्रियाशील किचेन के आधार पर उपकरण बदलने के लिए राशि आवंटित की जाती है.

प्राधिकरण निदेशक की ओर से जारी पत्र में सभी जिला शिक्षा अधीक्षकों को 15 अप्रैल तक रिपोर्ट देने की मांग की गयी है.

इसे भी पढ़ेंः जलियांवाला बाग की 100वीं बरसी पर राहुल गांधी ने दी श्रद्धांजलि

क्या-क्या सूचनाएं मांगी गयी हैं

जिला शिक्षा अधीक्षकों से जिसमें जिला में स्कूलों की कुल संख्या, वैसे स्कूलों की संख्या जहां छात्र संख्या अधिक है, जहां एलपीजी एवं किचेन शेड संचालित हैं, ऐसे स्कूलों की संख्या जहां पूर्व में किचेन उपकरण के लिए राशि आवंटित नहीं की गयी  है या राशि आवंटित होने के बाद भी उपकरणों में खर्च न हुई हो, ऐसे स्कूलों की जानकारी जहां वर्तमान में इस मद की राशि की आवश्यकता नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः JAC ने अंतिम समय में आठवीं बोर्ड रिजल्ट किया कैंसिल, जवाब नहीं देना चाहते अध्यक्ष

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: