Sports

अंपायर के शॉर्ट रन के फैसले के खिलाफ किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाड़ियों ने अपील की

विज्ञापन

Dubai :  आईपीएल  में रविवार को दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेला गया मैच में अंपायर के एक फैसले पर विवाद खड़ा हो गया है. किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाड़ियों ने अहम समय पर मैदानी अंपायर नितिन मेनन के विवादित ‘शॉर्ट रन’ कॉल के खिलाफ अपील की है. इस मामले में पूर्व खिलाड़ियों ने सही नतीजों के लिये तकनीक के अधिक उपयोग की मांग की है. टीवी फुटेज से पता चला कि स्क्वेयर लेग अंपायर मेनन ने 19वें ओवर की तीसरी गेंद पर क्रिस जोर्डन को ‘ शॉर्ट रन’ के लिये टोका था. यह मैच के सुपर ओवर में जाने से पहले की घटना है.

इसे भी पढ़ें :मॉनसून सत्रः लैंड म्यूटेशन बिल और सहायक पुलिसकर्मियों पर लाठीचार्ज को लेकर BJP का जोरदार हंगामा

 

advt

बल्ला क्रीज के भीतर था पर अंपायर ने नहीं माना

टीवी रिप्ले से से पता चल रहा था कि जोर्डन का बल्ला क्रीज के भीतर था जब उन्होंने पहला रन पूरा किया. मेनन ने कहा कि जोर्डन क्रीज तक नहीं पहुंचे हैं जिससे मयंक अग्रवाल और पंजाब के स्कोर में एक ही रन जोड़ा गया. इसका खामियाजा अंतत: पंजाब को भुगतना पड़ा. हालांकि तकनीकी साक्ष्य होने के बावजूद इस फैसले को नहीं बदला गया. आखिरी ओवर में पंजाब को 13 रन चाहिये थे और पहली तीन गेंद पर अग्रवाल ने 12 रन बनाया. पंजाब की टीम एक रन पीछे रह गई और मैच सुपर ओवर में चला गया जिसमें दिल्ली ने जीत दर्ज की. मैच के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के सीईओ सतीश मेनन ने कहा  हमने मैच रैफरी से अपील की है.   उन्होंने कहा कि इंसान से गलती हो सकती है लेकिन आईपीएल जैसे विश्व स्तरीय टूर्नामेंट में इसकी कोई जगह नहीं है. वह एक रन हमें प्लेआफ से वंचित कर सकता है.

इसे भी पढ़ें :IPL-13: जीत की दहलीज पर पहुंचकर मिली हार से दुखी हैं मयंक अग्रवाल

अंपायर को बदलना चाहिए था अपना फैसला

सतीश मेनन ने कहा कि  हार तो हार ही होती है. लेकिन यह हार अनुचित है. उम्मीद है कि नियमों की समीक्षा होगी ताकि इस तरह की गलती फिर से ना हो. हालांकि खिलाड़ियों के विरोध के बाद भी इस मामले में कुछ होगा इसकी उम्मीद कम है क्योंकि आईपीएल नियम 2 . 12 (अंपायर के फैसले) के तहत अंपायर फैसले को तभी बदल सकता है जब ये बदलाव तुरंत किये जाये. आमतौर पर अंपायर के फैसले को अंतिम माना जाता है. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी टॉम मूडी और भारत के पूर्व बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने कहा कि तकनीकी की मदद लेने के लिये नियम में बदलाव करना होगा. संजय मांजरेकर ने कहा तीसरे अंपायर को दखल देकर मेनन को बताना चाहिये था कि यह शॉर्ट रन नहीं था. अगर मेनन फैसला बदल लेते तो किसी को ऐतराज नहीं होता क्योंकि वह सही फैसला था.

इस पूरे प्रकरण में किंग्स इलेवन पंजाब की सह मालिक और अभिनेत्री प्रीति जिंटा ने कहा खेल भावना की कद्र करती हूं लेकिन नियमों में बदलाव की जरूरत है. बेहतर होगा अगर भविष्य में ऐसा नहीं हो.

adv

इसे भी पढ़ें :कविवर कन्हैया को याद करते हुए:  हल्के नश्तर से काम नहीं चलेगा…

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button