Crime NewsJharkhandKhunti

खूंटी: सुखराम मुंडा हत्याकांड की तरह नहीं सुलझी उपमुखिया दंपति मर्डर मिस्ट्री, पिछले 9 दिनों में 5 हत्या

Khunti: 19 अक्टूबर को नक्सल प्रभावित सायको थानांतर्गत आड़ा गांव में अज्ञात अपराधियों ने भाजपा नेता सह कुड़ापूर्ति पंचायत के उप मुखिया शीतल मुंडा (50) व उनकी पत्नी मादे मुंडाइन की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.

Jharkhand Rai

इस मामले में पुलिस के हाथ अबतक खाली हैं. उपमुखिया दंपति की हत्या किसने की और क्यो की अब तक इस मामले में पुलिस को कोई भी सुराग हाथ नहीं लग पाया है.

इसी तरह खूंटी के कोचांग के ग्राम प्रधान सुखराम मुंडा की 6 जुलाई को हत्या कर दी गयी थी. महीनों बीत जाने के बाद भी खूंटी पुलिस के पास इस हत्याकांड का कोई सबूत हाथ नहीं लगा हैं.

पिछले कई महीनों से शांत रहे खूंटी जिले में एक बार फिर हत्याओं का सिलसिला शुरू हो गया है. पिछले नौ दिनों में पांच हत्याओं को अंजाम देकर अपराधियों ने पुलिस को चुनौती देने का काम किया है.

Samford

इसे भी पढ़ें- #Jharkhand बनने के बाद 58 नेताओं ने दल बदले, 50% गये #BJP में और 17% #JMM में

पुलिस की पकड़ से दूर हैं सुखराम मुंडा के हत्यारे

6 जुलाई को खूंटी के चर्चित कोचांग के ग्राम प्रधान सुखराम मुंडा की हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में पुलिस के हाथ अब भी खाली हैं. हत्याकांड के चार महीने बीतने के बाद भी पुलिस को कुछ सुराग हाथ नहीं लगा है.

अड़की के सुदूरवर्ती पत्थलगड़ी से प्रभावित कोचांग इलाके में भाकपा माओवादी और पीएलएफआइ दोनों सक्रिय रहे हैं. कोचांग गैंगरेप में भी पीएलएफआइ उग्रवादियों के शामिल होने की बात सामने आयी थी.

जानकारी के मुताबिक, लोकसभा चुनाव के संपन्न होने के बाद से ही कोचांग और आसपास के क्षेत्रों में पीएलएफआइ और माओवादियों की सक्रियता पहले की अपेक्षा बढ़ी है. ऐसे में पुलिस को दोनों उग्रवादी संगठनों पर शक है.

वहीं सुखराम मुंडा द्वारा कोचांग में जिला प्रशासन को सहयोग करने को लेकर पत्थलगड़ी समर्थकों के घटना में शामिल होने की संभावना से भी पुलिस इनकार नहीं कर रही है. पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच-पड़ताल कर रही है.

इसे भी पढ़ें- #ByElectionResult: 18 राज्यों के 51 विधानसभा, दो लोकसभा सीट पर वोटों गिनती जारी

पिछले 9 दिनों में पांच लोगों की हत्या

खूंटी जिले में एक बार फिर हत्याओं का सिलसिला शुरू हो गया है. नौ दिनों में पांच हत्याओं को अंजाम देकर अपराधियों ने पुलिस को चुनौती दी है. पिछले दिनों अपराधियों व उग्रवादियों के खिलाफ पुलिस द्वारा चलाये गये अभियान के बाद भय था.

लेकिन इन दिनों जिस तरह से हत्याएं हुई है उससे यह लग रहा है कि अपराधी एकबार फिर से बेलगाम हो गये हैं. पिछले नौ दिनों में अपराधियों ने जिस प्रकार पांच हत्याओं को अंजाम दिया, उससे पुलिस की परेशानी बढ़ गयी. चुनाव से पहले हत्याओं का दौर शुरू होने से पुलिस की चिंता बढ़ गयी है.

पिछले 9 दिनों में हुई पांच हत्या

15 अक्टूबर को मुरहू थाना क्षेत्र के गुमफुडू में अज्ञात अपराधियों ने 43 वर्षीय सोमा हुन्नी पूर्ति की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी.

19 अक्टूबर को नक्सल प्रभावित सायको थानांतर्गत आड़ा गांव में अज्ञात अपराधियों ने भाजपा नेता सह कुड़ापूर्ति पंचायत के उप मुखिया शीतल मुंडा (50) व उनकी पत्नी मादे मुंडाइन की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी.

21 अक्टूबर को मुरहू थाना क्षेत्र के बुडिमा गांव में पांच अज्ञात अपराधियों ने रात में 55 वर्षीया रामदी हस्सा पूर्ति की लाठी डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी.

22 अक्टूबर को खूंटी थाना क्षेत्र के कुंदी में अज्ञात अपराधियों ने 35 वर्षीय महिला पालो देवी की गोली मारकर हत्या कर दी.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: