JharkhandKhas-KhabarRanchi

खूंटी: रिमिस फॉल में डूबकर रांची के दो छात्रों की मौत

KHUNTI: मारंगहादा थाना क्षेत्र के दिरीगढ़ा स्थित रिमिस फॉल में डूबकर रांची के दो युवकों की मौत हो गई. मृतकों में एक युवक पंकज कुमार (24 वर्ष) और दूसरा सुनील कुजूर (26 वर्ष) के नाम शामिल हैं. पंकज कुमार सीधाटोली, आरागेट, टाटीसिल्वे निवासी गोपाल शाह का पुत्र था और युवक सुनील कुजुर नामकुम के पलंग कुजूर का पुत्र. पंकज और सुनील अपने अन्य चार दोस्तों प्रीतम मिर्धा, धना, आकाश और राम तिर्की के साथ रविवार को घूमने के उद्देश्य से दशम फॉल के नीचे रिमिस फॉल पहुंचे थे.

इसे भी पढ़ें : पश्चिम बंगाल की युवती की गोड्डा में हत्या, प्रेम प्रसंग की वजह से घरवालों ने की हत्या

राम तिर्की ने बताया कि वह अपने घर से 11 बजे निकले थे. वे सीधे रिमिस फॉल पहुंचे. राम ने बताया कि वहां पहुंचते ही उसने अपने दोस्तों को अगाह किया था कि जिसे तैरना नहीं आता वे पानी में ना उतरें. इसके बावजूद प्रितम मिर्धा और धना (इन दोनो को तैरना आता था) जब पानी में उतरे तब पंकज कुमार और सुनील कुजूर भी पानी में उतर गए. कांची नदी के पानी का बहाव इतना तेज था कि चारों तेज बहाव में बहने लगे. प्रितम और धना किसी तरह बच गए, लेकिन पंकज और सुनील बहने लगे. इसी बीच राम तिर्की और आकाश ने बगल के एक बांस लेकर उन्हें बचाने की कोशिश की, लेकिन बांस छोटा पड़ गया. पानी में बहने से दोनो की मौत हो गई और उनका शव चट्टान में फंस गया.

 

advt

राम तिर्की ने बताया कि गांव वालों से जब उन लोगों ने मदद मांगी, तो गांव के कुछ युवकों ने पंकज और सुनील के शव को निकालने के लिए 40 हजार रूपये की मांग कर बैठे. बाद में वे 15 हजार रूपये में मान गए और दोनो शवों को बाहर निकाला गया. लेकिन इन चार युवकों के पास रूपये नहीं थे. इस कारण युवकों ने अपने एक बाइक की चाभी गांव के युवकों को दे दी.

 

पंकज और सुनील के दोस्तों ने बताया कि वे दो बाइक और एक स्कूटी से रिमिस फॉल आये थे. जिसमें से एक बाइक की चाभी गांव के युवकों के द्वारा ले लिये जाने के बाद वहीं रिमिस फॉल में ही है.

 

इस दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद मारंगहादा पुलिस रिमिस फॉल पहुंची और दोनो युवकों के शवों को कब्जे में पोस्टमार्टम के लिए खूंटी सदर अस्पताल भेज दिया. इधर दुर्घटना की जानकारी मिलते ही युवकों के परिजन और दोस्त खूंटी सदर अस्पताल पहुंचे. जहां उनका रो-रोकर बुरा हाल था.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: