न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खूंटीः घाघरा गांव पहुंचा संयुक्त विपक्ष, घरों में लटका ताला

27 जून की घटना का खौफ ! गांव के ज्यादातर घर मिले बंद

781

Khunti: 27 जून को खूंटी के घाघरा गांव में हुई पुलिस कार्रवाई के बाद इलाके का जायजा लेने विपक्ष के कई नेता शनिवार को गांव पहुंचे हैं. लेकिन गांव में आज भी दहशत और आक्रोश का माहौल व्याप्त है. कई घरों में ताला लटका है. हालात ये हैं कि घाघरा पहुंचने के बाद विपक्षी नेताओं को कोई ग्रामीण नहीं मिल रहा, जिससे बातचीत कर मामले की जानकारी ले सके.

घाघरा गांव में करीब 60 घर हैं. वही 27 जून की पुलिसिया कार्रवाई के बाद लोगों में भय इस कदर व्याप्त है कि खेती-बाड़ी के समय में भी लोग अपने गांव नहीं लौटे है. कुछ घरों के लोग लौटे भी हैं, तो उनमें से ज्यादातर महिलाएं हैं. इधर मामले की जानकारी लेने गांव पहुंचे विपक्ष के नेताओं को बहुत खोजने पर एक महिला मिली, जिससे पूरे घटनाक्रम की जानकारी लेने की कोशिश की जा रही है.

घाघरा गांव में भी विपक्ष की एकजुटता दिखी है. पूरे मामले की जानकारी लेने संयुक्त विपक्ष जिले के घाघरा गांव पहुंचा है. जिसमें कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी, जेएमएम महासचिव सुप्रीयो भट्टाचार्य समेत तीनों दलों के कई नेता शामिल हैं.




क्या हुआ था 27 जून को ?

गौरतलब है कि पत्थलगड़ी को लेकर खूंटी के ग्रामीण और पुलिस-प्रशासन आमने-सामने है. वही 26 जून को तीन इलाकों में पत्थलगड़ी किए जाने की बात थी. इधर 27 जून को घाघरा और चमराडीह गांव में पत्थलगड़ी समर्थकों पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया था. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और फायरिंग भी की थी. जिसमें एक शख्स की मौत हो गयी थी. इस घटना के बाद से गांववालों में गुस्सा भी है और कार्रवाई को लेकर खौफ भी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: