JharkhandKhunti

खूंटी : पुलिस-पत्थलगड़ी समर्थकों की झड़प में एक की मौत, 50 से ज्यादा हिरासत में

Khunti : भाजपा के सांसद कड़िया मुंडा के तीन हाउस गार्ड का मंगलवार को अपहरण कर लिया गया था. सुबह 8:00 बजे ऑपरेशन शुरू हुआ. गौरतलब है कि पत्थलगड़ी समर्थकों द्वारा अगवा किए गए तीनों जवानों को छुड़ाने की कोशिश की जा रही है. वहीं पुलिस द्वारा पत्थलगड़ी समर्थकों पर लाठी चार्च किया गया जिसमें एक समर्थक की मौत हो गयी है. साथ ही पुलिस ने 50 से ज्यादा समर्थकों को हिरासत में ले लिया है.

बुधवार सुबह रैफ की टुकड़ी घाघरा गांव पहुंची, जिसके बाद ऑपरेशन शुरू हुआ. सिमडेगा, लोहरदगा, गुमला और चाईबासा के करीब 700 जवान घाघरा गांव में ऑपरेशन में लगे हुए हैं. जिन जवानों को ग्रामीण ले गये हैं, उनके नाम सुबोध कुजूर, विनोद केरकेट्टा व सुयोन सुरीन हैं.  इन जवानों को छुड़ाने के लिए पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है.

इसे भी पढ़ें- ई-स्टांप की व्यवस्था से वेंडरों की स्थिति हुई दयनीय, घर चलाना और बच्चों को पढ़ाना भी हुआ मुश्किल

क्या है पूरा मामला

पत्थलगड़ी समर्थकों के लिये ग्रामीणों ने खुद एक सुरक्षा सेना बना रखी है. पुलिस प्रशासन पत्थलगड़ी इलाके में पहुंची और समर्थकों से कहा कि, आप संविधान के खिलाफ काम कर रहे हैं. जिसके जवाब में पत्थलगड़ी समर्थकों ने कहा कि हम सारा काम संविधान के अंदर रहते हुए ही कर रहे हैं.

इसी दौरान पहले तो बहस चली और फिर पुलिस और पत्थलगड़ी समर्थकों के बीच झड़प होने लगी. पुलिस नेथोड़ा भी इंतजार किये बिना लाठीचार्ज कर दिया और पत्थलगड़ी समर्थकों में से दो ग्रामीणों को  अपने साथ ले गये. यह बात तुरंत इलाके में आग की तरह फैल गयी, सर्मथकों ने उस वक्त गांव में चल रही बैठक में जाकर इस बात की जानकारी दे दी. उसके बाद सभी लोग वहां से चानेडीह पहुंच गये और बीजेपी सांसद कड़िया मुंडा के घर पर तैनात तीन होम गार्ड को अपने साथ ले गये. पत्थलगड़ी समर्थकों का कहना है कि जब तक पुलिस हमारे लोग को नहीं छोड़ेगी, तब तक हम पुलिस वालों को भी बंधक बनाकर रखेंगे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button