National

केरल : तीन रेलवे स्टेशनों पर ‘हवाई अड्डा मॉडल’ की तरह की जाएगी जांच, कोरोना संदिग्ध होने पर स्टेशन से ही भेजा जायेगा अस्पताल

विज्ञापन

Thiruvananthapuram  : भारतीय रेलवे द्वारा देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे लोगों के लिए मंगलवार से कुछ ट्रेनें चलाने के फैसले के मद्देनजर केरल ने राज्य के तीन रेलवे स्टेशनों पर कोविड-19 की ‘हवाई अड्डा मॉडल’ के तहत जांच करने की योजना बनाई है. ये रेलवे स्टेशन कोझीकोड, एर्नाकुलम और तिरुवनंतपुरम हैं.

राज्य मंत्री वी.एस सुनील कुमार ने बताया कि किसी भी व्यक्ति में कोई भी लक्षण दिखने पर उसे स्टेशन से ही अस्पताल भेज दिया जाएगा और अन्य को केरल राज्य सड़क परिवहन (केएसआरटीसी) की विशेष बसों से उनके जिले के लिए रवाना किया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः #BJYM के प्रदेश अध्यक्ष अमित सिंह व देवघर जिला अध्यक्ष अभय आनंद झा पर है रेड वारंट, पुलिस नहीं पकड़ती

advt

उन्होंने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘ विशेष ट्रेनें केवल तीन स्टेशनों केरल-कोझीकोड, एर्नाकुलम और तिरुवनंतपुरम पर रुकेंगी. रेलवे हमें यात्रियों का पूरा पता मुहैया कराएगा. हम उन्हें उनके जिलों के अनुसार अलग करेंगे और तीन स्टेशनों पर उतरने वाले लोगों की सूची को अंतिम रूप देंगे. स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों की जांच की जाएगी.’’

केन्द्र के दिशा-निर्देशानुसार रेलवे को यह सुनिश्चित करना है कि केवल बिना लक्षण वाले लोग ट्रेन में यात्रा करें.  यात्रियों को स्टेशन के प्रवेश और निकास बिंदु पर हैंड सैनिटाइजर दिया जाएगा और सभी को मास्क पहनने होंगे. उन्होंने बताया कि गन्तव्य पर पहुंचते ही उन्हें राज्य के स्वास्थ्य नियमों का पालन करना होगा.

मंत्री ने कहा कि हवाई अड्डे पर यात्रियों की जांच के लिए लगाए जाने वाले काउंटर इन तीन स्टेशनों पर होंगे.  उन्होंने कहा, ‘‘ हमें हर ट्रेन में कम से कम 1400 लोगों के आने की उम्मीद है और वे तीन अलग-अलग स्टेशनों पर उतरेंगे. बुधवार शाम तक योजना को अंतिम रूप दिया जाएगा.’’

उन्होंने बताया कि रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की थर्मल जांच भी की जाएगी. अधिक तापमान (बुखार) होने पर यात्री को अलग कर औपचारिक जांच के लिए अस्पताल भेज दिया जाएगा.

adv

इसे भी पढ़ेंः #CoronaVirusUpdate: राजस्थान में 47 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों का आंकड़ा 4 हजार के पार

कुमार ने कहा, ‘‘ जिनमें लक्षण दिखाई देंगे उन्हें अस्पताल भेज दिया जाएगा. बिना लक्षण वाले यात्रियों को केएसआरटीसी की बसों में उनके जिले के लिए रवाना कर दिया जाएगा, जहां उन्हें पृथक-वास में रहना होगा.’’

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए देशभर में लगाए गए लॉकडाउन के कारण रेल सेवाएं काफी दिन तक बंद रही, जिसे अब आंशिक रूप से शुरू किया जा रहा है. राज्य में कोविड-19 के 519 मामले सामने आए हैं. इनमें से केवल 27 लोगों का इलाज जारी है.

इसे भी पढ़ेंः PM मोदी रात 8 बजे करेंगे देश को संबोधित, कुछ छूट के साथ लॉकडाउन-4 का हो सकता है ऐलान

 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button