न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

केरल नन दुष्‍कर्म मामले का गवाह पंजाब में मिला मृत

91

Hoshiarpur : केरल में नन के साथ बलात्कार मामले के गवाह फादर कुरियाकोज कट्टुथारा सोमवार को पंजाब के होशियारपुर जिले के दसुया में मृत मिले. पादरी को 15 दिन पहले ही दसुया के कैथोलिक चर्च में स्थानांतरित किया गया था. वह चर्च परिसर में रह रहे थे. बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर नन के बलात्कार का आरोप है. फिलहाल अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह हत्या या फिर सूइसाइड का मामला है।. जालंधर पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. दासुआ के डीएसपी एआर शर्मा ने कहा, ‘पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत की वजह का खुलासा होगा। उनके शव पर चोट के कोई निशान नहीं मिले हैं. ऐसा मालूम हो रहा है कि उन्हें बेड पर उल्टियां हुई थीं. वहां ब्लड प्रेशर की टैबलेट भी मिली हैं.

इसे भी पढ़ेंःबूढ़े कंधों पर जंगल की सुरक्षा ! सभी रेंजर 50 साल पार, गुजर गये 29 साल- नहीं हुई बहाली

फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ बयान देने के लिए मारा गया

उधर, फादर के परिवार का कहना है कि उनकी मौत के पीछे रेप के आरोपी मुलक्कल वजह हो सकते हैं. बता दें कि फादर कुरियाकोस ने पिछले दिनों केरल पुलिस के सामने जीजस मिशनरी की नन से रेप के आरोप में बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ बयान दिया था. कुरियाकोस के परिवार कहना है कि उन्हें उनकी मौत पर संदेह है. साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि फादर कुरियाकोस को फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ बयान देने के लिए मारा गया है.

इसे भी पढ़ेंः10-12 साल के बच्चों को मार कर पुलिस ने कुख्यात नक्सली बता दिया था, सीआइडी जांच को भी किया मैनेज, अब सच सामने आने की उम्मीद बढ़ी

palamu_12

कोट से हाल ही में मिली थी बिशप को जमानत 

कुछ दिनों पीले ही केरल हाईकोर्ट से नन के साथ रेप के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल को सशर्त जमानत दे दी थी. कोर्ट ने जमानत के लिए जिन शर्तों को निर्धारित किया है, उसके तहत आरोपी बिशप केरल में प्रवेश नहीं कर सकते और साथ ही उन्हें अपना पासपोर्ट भी कोर्ट में जमा करना होगा.
इससे पहले 21 सितंबर को गिरफ्तार किए गए बिशप की जमानत 3 अक्टूबर को खारिज कर दी गई थी. इसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट के समक्ष नई याचिका दायर की. इसमें उन्होंने दलील दी थी कि पुरानी याचिका के वक्त अभियोजन ने जो आपत्तियां की थी, वह अब नहीं हैं. जमानत के बाद जब वह जालंधर पहुंचे थे तो उनके समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया था.

पीड़ता नन ने आरोप लगाया था कि बिशप ने 2014 से 2016 के बीच कई बार उनके साथ रेप किया था. मामला तूल पकड़ने के बाद बिशप ने अपने बचाव में कई तर्क दिए. उन्होंने यहां तक कहा कि उनसे बदला लेने के लिए यह शिकायत की गई है. बिशप ने नन के खिलाफ जांच करने की भी अनुमति मांगी थी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: