National

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा, #CAA संविधान सम्मत,  हिंसा से  हल नहीं निकलेगा

NewDelhi : नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) संविधान सम्मत है, जिन्हें लगता है कि यह संविधान के खिलाफ है तो उन्हें इस तरह के प्रदर्शनों की जगह सुप्रीम कोर्ट चले जाना चाहिए. क्योंकि चाहे कितने भी बड़े पैमाने पर हिंसा क्यों न हो जाये, इससे किसी समस्या का हल नहीं निकलता है.

यह बात केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कही. आरिफ मोहम्मद खान ने केरला हाउस में मीडिया से बातचीत के क्रम में हिंसक प्रदर्शन कर रहे लोगों को नागरिकता संशोधन कानून पढ़ने की नसीहत दी. उन्होंने कहा कि अगर लोग कानून पढ़ते तो इस तरह प्रदर्शन नहीं करते.

इसे भी पढ़ें :  #JharkhandElectionResults: यह झारखंड भाजपा, रघुवर दास व उनके कुनबे के भ्रष्टाचार व अहंकार की हार है

advt

मुझे भरोसा है कि लोग हिंसक प्रदर्शन नहीं करेंगे

आरिफ मोहम्मद खान ने कहा, जब देश का विभाजन हुआ, धर्म के नाम पर एक नया देश बना तो दूसरे धर्म के लोगों को वहां बराबरी का दर्जा नहीं मिला.  उस समय महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू और डॉ राजेंद्र प्रसाद ने यहां तक कि कांग्रेस ने वादा किया था कि अपने जीवन और सम्मान की सुरक्षा के लिए जो लोग भारत आये हैं और जो आगे आयेंगे, उन्हें स्वीकार करेंगे.

ऐसे में उस वादे को अब केंद्र सरकार ने इस कानून के जरिए वैधानिकता प्रदान की है.  केरल के राज्यपाल ने कहा,अगर हमें सही बात की जानकारी नहीं रहेगी, तो तरह-तरह की अफवाहों में पड़ कर डर पैदा होंगे, अगर कानून पढ़ेंगे तो मुझे भरोसा है कि लोग हिंसक प्रदर्शन नहीं करेंगे.

इसे भी पढ़ें : हाइकोर्ट ने कहा- नागरिकता संशोधन एक्ट के विरोध या पक्ष में नहीं नहीं लगाये जा सकते पोस्टर

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button