JharkhandLead NewsRanchi

आत्मसमर्पण करनेवाले नक्सलियों को ओपन जेल में रखें: मुख्यमंत्री

Ranchi: आत्मसमर्पण करनेवाले नक्सलियों को खुला जेल में शिफ्ट करें. क्यों उन्हें खुला जेल में न रख कर नॉर्मल जेल में रखा जा रहा है. ओपन जेल मैन्युअल में अगर किसी तरह के बदलाव की जरूरत हो तो वो भी करें. साथ ही, आत्मसमर्पण करनेवाले नक्सलियों को मिलने वाली राशि की विमुक्ति को सरल बनायें. ये बातें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहीं. मुख्यमंत्री गुरुवार को लेफ्ट विंग एक्सट्रीमिस्ट की गतिविधियों को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें:पलामू : 16 हजार की उंचाई पर चढ़कर एशिया रिकार्ड बनाने वाले तरहसी के मंजीत बनाना चाहते हैं वर्ल्ड रिकार्ड, आर्थिक तंगी बनी बाधा

विस्फोटक सामग्रियों का ब्योरा रखें

मुख्यमंत्री ने नक्सलियों को प्राप्त होनेवाली विस्फोटक सामग्रियों पर पैनी निगाह रखने का निर्देश दिया. इसकी पूरी मैपिंग होनी जरूरी है.

advt

खनन में उपयोग हो रहे विस्फोटक की पूर्ण जानकारी रखें. ताकि नक्सलियों तक विस्फोटक न पहुंच सके. नक्सलियों की सप्लाई चेन को ध्वस्त करने का कार्य करें.

इसे भी पढ़ें:वैक्सीनेशन की नई गाइडलाइंस जारी: दिव्यांगों और बुजुर्गों को घर के पास ही लगेगा टीका

adv

सड़क निर्माण को गति दें

बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि केंद्रीय सड़क मंत्रालय द्वारा स्वीकृत उग्रवाद प्रभावित 19 जिलों में 15 पथों और 63 पुलों का निर्माण कार्य जारी है. यह कार्य 94 और 74 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है.

362.67 किमी के विरुद्ध 340.92 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है. वहीं 63 पुलों के निर्माण के विरुद्ध 47 पुलों का निर्माण हो चुका है. इस पर मुख्यमंत्री ने इन क्षेत्रों में निर्माण कार्य को गति देने का आदेश दिया.

बैठक में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, पुलिस महानिदेशक नीरज सिन्हा, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, सचिव केके सोन, सचिव ग्रामीण विकास विभाग मनीष रंजन, आईजी ऑपरेशन एवी होमकर उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें: त्योहारों को लेकर जारी गाइडलाइन का हो सख्ती से पालन, अभी थोड़ी सी लापरवाही से स्थिति हो सकती है विस्फोटकः हाइकोर्ट

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: