न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कश्मीर : अगवा हुए तीन पुलिसकर्मियों को आतंकवादियों ने मार डाला, डर से एक ने दिया इस्तीफा

185

Srinagar : आतंकवादियों ने जम्मू कश्मीर के शोपियां जिला से अगवा करने के बाद तीन पुलिसकर्मियों को शुक्रवार सुबह मार डाला. गौरतलब है कि आतंकियों ने गुरुवार रात चार पुलिसकर्मियों का अपहरण कर लिया था. जिसमें से फयाज अहमद भट्ट नाम के एक पुलिसकर्मी को छोड़ दिया था. जिसके बाद शुक्रवार सुबह तीनों अपहृत पुलिसकर्मियों का शव बरामद किया गया है. जिन तीन पुलिसकर्मियों की हत्या की गई है उनमें दो एसपीओ और कॉन्स्टेबल शामिल हैं. वहीं इन तीन हत्याओं के बाद एक अन्य पुलिसकर्मी ने अपनी नौकरी से ही इस्तीफा दे दिया.

इसे भी पढ़ें- रांची जलापूर्ति योजना : 397 करोड़ खर्च हुए, फिर भी योजना के लाभ से महरूम हैं रांचीवासी

सभी एसपीओ को आतंकवादी ने नौकरी छोड़ने की दी धमकी

इधर हिजबुल आतंकी रियाज नाइकू ने एक ऑडियो क्लिप जारी किया है. यह क्लिप चार दिन पहले जारी किया गया है. इस ऑडियो में रियाज ने सभी एसपीओ को नौकरी छोड़ने की बात कही है और कहा है कि नौकरी नहीं छोड़ने पर नतीजे काफी बुरे होंगे. साथ ही उसने यह कहा है कि सभी एसपीओ पुलिस को उग्रवादियों की सूचना ना दें. रियाज ने कहा है कि भारत की सरकार साजिश के तहत लोगों को एसपीओ बना रही है. साथ ही उसने कहा कि कश्मीरी लड़के पुलिस ज्वाइन ना करें.

इसे भी पढ़ें- भूख लगने पर महिला ने रोटी चुराकर खा ली, तो मालिक ने नंगा कर बांध दिये हाथ-पैर, पूरे बदन पर लगाया मिर्च पाउडर का लेप

पुलिस के परिजनों को भी किया था किडनैंप

silk_park

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में कुछ दिनों पहले भी कई बार आतंकियों ने पुलिसकर्मियों को किडनैप कर उनकी निर्मम तरीके से हत्या कर दी थी. जिसके बाद घाटी में काफी बवाल है. वही पिछले महीने आतंकियों ने अपनी दुस्साहस का परिचय देते हुए पुलिसकर्मियों के 10 परिजनों को किडनैप कर लिया गया था, हालांकि उन्हें बाद में छोड़ दिया था.

इसे भी पढ़ें- 6302 करोड़ हुए खर्च लेकिन खेतों में नहीं पहुंचा पानी, 88 फीसदी किसान को सिंचाई सुविधा नहीं

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव होने हैं. और आतंकी उसमें बाधा डालने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं. आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन ने पंचायत चुनाव को लेकर प्रत्याशियों को धमकी दी है. हिजबुल के चीफ ऑपरेशन कमांडर रियाज अहमद नाईकू ने कहा था कि लोग पंचायत चुनाव से दूर रहें नहीं तो फिर नतीजा भुगतने को तैयार रहें.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: