न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

 कश्मीर  : नवंबर में सुरक्षा बलों ने 32 आतंकियों को ढेर किया, इस साल अब तक 226 आतंकी मारे गये

सेना के सूत्रों के अनुसार पहले सिर्फ छोटे आतंकियों के खिलाफ ही खुफिया जानकारी मिलती थी, लेकिन अब आतंक के आकाओं के खिलाफ भी पुख्ता जानकारियां मिल रही हैं.

23

Srinagar : कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ लगातार मिल रहे पुख्ता इनपुट्स के कारण्र इसी माह नवंबर में  सुरक्षा बलों ने 32 आतंकियों को ढेर कर दिया है. आतंकियों के खिलाफ इस कार्रवाई को सुरक्षाबलों की बड़ी सफलता के रूप में आंका जा रहा है. सेना के सूत्रों के अनुसार पिछले कुछ समय से बड़ी खुफिया जानकारियां मिल रही हैं.   कहा कि पहले सिर्फ छोटे आतंकियों के खिलाफ ही खुफिया जानकारी मिलती थी, लेकिन अब आतंक के आकाओं के खिलाफ भी पुख्ता जानकारियां मिल रही हैं.  सबसे बड़ी बात कि सुरक्षा बलों को कश्मीर के आम लोंगों की तरफ से जानकारियां मिल रही हैं.   पहले जो जानकारियां मिलती थी, उनमें ज्यादातर इस तरह की होती थी कि कुछ आतंकी हमले की फिराक में हैं, लेकिन कुछ समय से आतंक के सरगनाओं के खिलाफ भी पुख्ता खबर मिल रही है.  आम लोग अब आतंकियों किसी भी मूवमेंट के बारे में पता चलने पर सिक्योरिटी एजेंसियों को सूचना दे रहे हैं.  सूत्रों के अनुसार इस बदलाव की एक बड़ी वजह यह है कि  आतंकियों ने लोकल लोगों को निशाना बनाना और डराना शुरू किया है. इससे लोगों में भी उनके खिलाफ गुस्सा दिखने लगा है.

स्थानीय लोग आतंकियों से तंग आ गये हैं

सेना के एक अधिकारी के अनुसार जिस तरह से आतंकी अब आईएसआई की तरह लोगों को मारकर उसका विडियो प्रसारित कर रहे हैं, उससे उनकी व्याकुलता दिख रही है.  कहा कि अगर लोग आतंकियों को सपोर्ट कर रहे होते तो हमारे पास इतना इंटेलिजिंस इनपुट नहीं आ रहा होता.  उन्होंने कहा कि आतंकियों ने जबसे छुट्टी पर जा रहे फौजियों या एसपीओ को निशाना बनाना शुरू किया है, उसके बाद से उनके बारे में लोग खुलकर जानकारी साझा कर रहे हैं.  लोगों की तरफ से आ रही जानकारी से साफ जाहिर है कि स्थानीय लोग  आतंकियों से तंग आ गये हैं और उनके खिलाफ सुरक्षा बलों को जानकारी दे रहे हैं.  जानकारी दी गयी कि सुरक्षा बलों ने इस माह  अभी तक 32 आतंकियों का सफाया कर दिया है.  अक्टूबर में 28, सितंबर में 29, अगस्त में 28 और जुलाई में 11 आतंकी मार गिराये गये हैं.  2018 में अब तक 226 आतंकी मारे गये हैं.  बताया गया कि पिछले साल 213 आतंकियों का और 2016 में 141 आतंकियों को मार गिराया गया था.  जानकारी के अनुसार घाटी और एलओसी में इस साल हमारे 56 सैनिक शहीद हुए हैं.

इसे भी पढ़ें :  डॉ मनमोहन सिंह की पीएम मोदी को नसीहत,  नैतिकता के अनुरूप आचरण के जरिये उदाहरण स्थापित करें

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: