न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#KarnatakaBypolls: मतों की गिनती जारी, परिणाम तय करेगा येदियुरप्पा सरकार का भविष्य

939

Bengaluru: कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए मतगणना जारी है. राज्य के 11 केंद्रों में सोमवार सुबह 8 बजे से मतों की गिनती शुरू हो गई.


ये चुनाव परिणाम राज्य में चार महीने पुरानी बी एस येदियुरप्पा नीत भाजपा सरकार का भविष्य तय करेंगे. निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि काउंटिंग सुबह आठ बजे से शुरू हुई. और चुनाव परिणाम 11 बजे से आने आरंभ होने की उम्मीद है.

इसे भी पढ़ेंः#Ranchi: चुनाव ड्यूटी पर तैनात छत्तीसगढ़ जवान ने पहले कमांडर फिर खुद को मारी गोली, दोनों की मौत

परिणाम तय करेगा येदियुरप्पा सरकार का भविष्य

भाजपा को राज्य की सत्ता में बने रहने के लिए 225 सदस्यीय विधानसभा (स्पीकर सहित) में 15 सीटों (जिन पर उपचुनाव हुए हैं) में कम से कम छह सीटें जीतने की जरूरत है. हालांकि, अब भी मास्की और आर आर नगर सीटें रिक्त रहेंगी.


शुरुआती रुझानों में बीजेपी ने बढ़त बना ली है.  हिरेकिरेरू, अथानी, गोकक सीट से भाजपा आगे चल रही है. बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के लिए इन उपचुनावों के परिणाम बेहद महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि सत्तारूढ़ पार्टी को 223 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत के लिए कम से कम 7 सीटें चाहिए.

अबतक मिले रुझानों में बीजेपी 10 सीटों पर जबकि कांग्रेस औऱ जेडीएस 2-2 सीटों पर और एक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी आगे हैं.

17 विधायकों के अयोग्य करार दिये जाने के बाद हुए उपचुनाव

Related Posts

#Delhi_ Violence : जांच के लिए दो एसआइटी का गठन,  आप पार्षद ताहिर हुसैन पर एफआइआर दर्ज, फैक्ट्री सील

दिल्ली हिंसा की जांच के लिए विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया गया है.  दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के तहत दो एसआईटी का गठन किया गया है.

गौरतलब है कि ये उपचुनाव 17 विधायकों को अयोग्य करार देने के बाद खाली हुई सीटों को भरने के लिए कराए गए. इन विधायकों में कांग्रेस और जद(एस) के बागी नेता शामिल थे. इन विधायकों की बगावत के चलते जुलाई में एचडी कुमारस्वामी नीत कांग्रेस-जद(एस) सरकार गिर गई थी और भाजपा के सत्ता में आने का मार्ग प्रशस्त हुआ.

विधानसभा उपचुनाव के लिए 5 दिसबंर को वोटिंग हुई थी. जहां कुल 67.90 प्रतिशत मतदान हुआ था. जहां
25 लाख 65 हजार 252 मतदाताओं (13,10,344 पुरुष एवं 12,54,874 महिलाओं और 34 अन्य) ने मताधिकार का प्रयोग किया था. जबकि कुल 37.78 लाख मतदाता मतदान करने के लिए योग्य थे.

अंतिम आंकड़ों के मुताबिक हसकोट में सर्वाधिक मतदान प्रतिशत दर्ज किया गया जो 90.90 प्रतिशत रहा जबकि सबसे कम मतदान 46.74 के आर पुरम में दर्ज किया गया.

इसे भी पढ़ेंः#Jamshedpur: डिमना चौक के पास आपसी रंजिश में फायरिंग, दो लोग घायल

विधानसभा में अभी भाजपा के पास 105 (एक निर्दलीय सहित), कांग्रेस के 66 और जद (एस) के 34 विधायक हैं. बसपा का भी एक विधायक है. इसके अलावा एक मनोनीत विधायक और विधानसभा अध्यक्ष हैं.

अयोग्य करार दिए गए 13 विधायकों को भाजपा ने अपना टिकट दिया. उपचुनाव लड़ने के लिए उच्चतम न्यायालय से इजाजत मिलने के बाद पिछले महीने वे भाजपा में शामिल हो गए थे.

जिन 15 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है उनमें से 12 पर कांग्रेस और तीन पर जद (एस) का कब्जा है.

उल्लेखनीय है कि राज्य में ये उपचुनाव 21 अक्टूबर को होने थे, लेकिन चुनाव आयोग ने इसे पांच दिसंबर के लिए टाल दिया था. दरअसल, शीर्ष न्यायालय ने अयोग्य करार दिए विधायकों की याचिकाओं की सुनवाई करने का फैसला किया था.

इसे भी पढ़ेंः#JharkhandElection: चैनल के लाइव डिबेट शो में भिड़े दो दलों के कार्यकर्ता, झाविमो महासचिव घायल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like